समीक्षा : तीसरी तिमाही में जीडीपी विकास दर 5.4 प्रतिशत

February 28th, 2022

हाईलाइट

  • वित्त वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी विकास दर 20.3 प्रतिशत थी

डिजिटल डेस्क, नयी दिल्ली। कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिये लगाये गये प्रतिबंधों की वजह से सुस्त पड़ी आर्थिक गतिविधियों के कारण चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद यानी जीडीपी विकास दर वार्षिक आधार पर 5.4 प्रतिशत रही।

राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय द्वारा सोमवार को जारी अधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में जीडीपी के 38.22 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान है जबकि वित्त वर्ष 2020-21 की समान अवधि के दौरान यह आंकड़ा 36.26 लाख करोड़ रुपये था।

जीडीपी विकास दर के 5.4 प्रतिशत रहने के कारण जीडीपी विकास वृद्धि अनुमान को पहले के 9.2 प्रतिशत से घटाकर दूसरे अग्रिम अनुमान में 8.5 प्रतिशत कर दिया गया है।

चालू वित्त वर्ष की पहली दो तिमाहियों की तुलना में दिसंबर 2021 में समाप्त तीसरी तिमाही में जीडीपी की विकास की दर धीमी हो रही है।

चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी विकास दर 20.3 प्रतिशत और दूसरी तिमाही में 8.5 प्रतिशत थी।

(आईएएनएस)