उम्मीद की किरण : भारतीय अर्थव्यवस्था इस साल 9.5 फीसदी और 2022 में 8.5 फीसदी की दर से बढ़ेगी: आईएमएफ (IMF)

October 13th, 2021

हाईलाइट

  • 2021 में दुनिया के 5.9 प्रतिशत और 2022 में 4.9 प्रतिशत की दर से बढ़ने की उम्मीद है
  • अमेरिका की अर्थव्यवस्था 2021 में छह फीसदी और 2022 में 5.2 फीसदी की दर से बढ़ने का अनुमान है
  • चीन की 2021 में 8 प्रतिशत और 2022 में 5.6 प्रतिशत की दर से बढ़ने का अनुमान है

डिजिटल डेस्क,दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) द्वारा मंगलवार को जारी नवीनतम अनुमानों के अनुसार, भारत की अर्थव्यवस्था, जिसमे कोविड -19 महामारी के कारण  वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान 7.3% की गिरावट आई थी, 2021 में 9.5 प्रतिशत और 2022 में 8.5 प्रतिशत बढ़ने की उम्मीद है। 

नवीनतम विश्व आर्थिक आउटलुक (WEO) द्वारा जारी भारत के विकास अनुमान में कोई भी परिवर्तन देखने को नहीं मिला हैं। इस साल जुलाई के अपने पिछले WEO अपडेट से अपरिवर्तित है, लेकिन इसमें अप्रैल के अनुमानों के मुकाबले 1.6 प्रतिशत की गिरावट देखने को मिली हैं।

IMF और विश्व बैंक की वार्षिक बैठक से पहले जारी नवीनतम WEO अपडेट के अनुसार, 2021 में दुनिया के 5.9 प्रतिशत और 2022 में 4.9 प्रतिशत की दर से बढ़ने की उम्मीद है।

अमेरिका की अर्थव्यवस्था इस साल छह फीसदी और अगले साल 5.2 फीसदी की दर से बढ़ने का अनुमान है। दूसरी ओर, चीन की 2021 में 8 प्रतिशत और 2022 में 5.6 प्रतिशत की दर से बढ़ने का अनुमान है।

आईएमएफ की मुख्य अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ ने कहा कि उनके जुलाई के पूर्वानुमान की तुलना में, 2021 के लिए वैश्विक विकास अनुमान को मामूली रूप से संशोधित कर 5.9 प्रतिशत कर दिया गया है और 2022 के लिए 4.9 प्रतिशत पर अपरिवर्तित है। 

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए सकल घरेलू उत्पाद (GDP) बढ़ने का अनुमान 9.5 फीसदी रखा है। लेकिन, वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही में आर्थिक विकास दर 17.2 फीसदी रहने का अनुमान जताया है।