comScore

पूरे सप्ताह लगे महंगाई के झटके, दिल्ली में 4 रुपये लीटर महंगा हुआ डीजल

June 13th, 2020 17:31 IST
 पूरे सप्ताह लगे महंगाई के झटके, दिल्ली में 4 रुपये लीटर महंगा हुआ डीजल

हाईलाइट

  • पूरे सप्ताह लगे महंगाई के झटके, दिल्ली में 4 रुपये लीटर महंगा हुआ डीजल

नई दिल्ली, 13 जून (आईएएनएस)। लॉकडाउन खुलने के साथ जैसे ही सड़कों पर वाहनों की तादाद बढ़ने लगी, तेल कंपनियों ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी शुरू कर दी है। पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने से देश के उपभोक्ताओं को एक सप्ताह से रोज महंगाई के झटके लग रहे हैं। देश की राजधानी दिल्ली में एक सप्ताह के दौरान डीजल 4.02 रुपये प्रति लीटर महंगा हो गया है जबकि पेट्रोल के दाम में 3.90 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है।

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल की कीमत बढ़कर क्रमश: 75.16 रुपये, 77.05 रुपये, 82.10 रुपये और 78.99 रुपये प्रति लीटर हो गई। डीजल का दाम भी चारों महानगरों में बढ़कर क्रमश: 73.39 रुपये, 69.23 रुपये, 72.03 रुपये और 71.64 रुपये प्रति लीटर हो गया है।

दिल्ली में पेट्रोल का दाम शनिवार को 59 पैसे, कोलकाता और मुंबई में 57 पैसे जबकि चेन्नई में 52 पैसे प्रति लीटर बढ़ गया जबकि डीजल के दाम में चारों महानगरों में क्रमश: 58 पैसे, 53 पैसे, 55 पैसे और 50 पैसे की वृद्धि हो गई।

पेट्रोल और डीजल के दाम में आने वाले दिनों में और बढ़ोतरी की संभावना बनी हुई है। एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट (एनर्जी एंव करेंसी रिसर्च) अनुज गुप्ता पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी की तीन वजह गिनाते हैं। गुप्ता बताते हैं अंतर्राष्ट्रीय बाजार में बीते करीब डेढ़ महीने से तेल के दाम में बढ़ोतरी मुख्य वजह है, वहीं घरेलू मुद्रा रुपये में आई कमजोरी भी वजह है। इसके अलावा वह बताते हैं कि लॉकडाउन के दौरान सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद कर में भारी बढ़ोतरी की थी, लेकिन उस समय तेल कंपनियों ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में वृद्धि नहीं की थी।

बीते महीने मई के आरंभ में सरकार ने पेट्रोल पर आठ रुपये प्रति लीटर इन्फ्रास्ट्रक्च र सेस और दो रुपये प्रति लीटर स्पेशल एडिशनल एक्साइज ड्यूटी में बढ़ोतरी कर पेट्रोल पर कुल 10 रुपये प्रति लीटर शुल्क बढ़ा दिया। इसी प्रकार, डीजल पर 13 रुपये प्रति लीटर शुल्क बढ़ाया गया जिसमें आठ रुपये प्रति लीटर इन्फ्रास्ट्रक्च र सेस और पांच रुपये प्रति लीटर स्पेशल एडिशनल एक्साइज ड्यूटी शामिल है।

भारत समेत दुनिया के अन्य देशों में लॉकडाउन खुलने के साथ-साथ आर्थिक गतिविधियां पटरी पर लौटने लगी है जिससे तेल की खपत मांग बढ़ने की उम्मीद बढ़ गई है जिससे अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में बीते दिनों भारी तेजी आई है। अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज पर बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड का अगस्त वायदा अनुबंध 22 अप्रैल को 15.98 डॉलर प्रति बैरल तक गिरा था जबकि बीते शुक्रवार को 38.95 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ। इस प्रकार, ब्रेंट क्रूड के दाम में 22 अप्रैल के बाद 143.73 फीसदी की तेजी आई है।

कमेंट करें
bop5t