comScore

पेट्रोल- डीजल: आगामी दिनों में 8 रुपए तक बढ़ सकते हैं दाम! आज लगातार 10वें दिन की बढ़ोतरी


हाईलाइट

  • पेट्रोल की कीमत में 47 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि
  • डीजल के दाम में भी 57 पैसे प्रति लीटर तक बढ़ोतरी
  • आगामी दिनों में और भी बढ़ाए जा सकते हैं दाम

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पेट्रोल- डीजल (Petrol-Diesel) की कीमतों में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी है। भारतीय तेल (Indian Oil) विपणन कंपनियों की ओर से इन दोनों ईंधन की कीमत में लगातार 10 वें दिन वृद्धि की गई है। आज (मंगलवार, 16 जून) राजधानी दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल के रेट में 47 पैसे प्रति लीटर तक की वृद्धि हुई है। जबकि एक लीटर डीजल का भाव 57 पैसे प्रति लीटर तक बढ़ गया है। देखा जाए तो 10 दिनों में पेट्रोल 5.47 रुपए प्रति लीटर और डीजल 5.80 रुपए प्रति लीटर महंगा हो चुका है। 

जानकारों का मानना है कि फिलहाल पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई राहत मिलने की गुंजाइश नहीं दिखाई दे रही है। बल्कि कम से कम दो हफ्ते तक हर दिन बढ़ोतरी की संभावना है। दरअसल, 16 मार्च के बाद कोरोना लॉकडाउन में तेल कंपनियों ने पूरे 82 दिन तक पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई वृद्धि नहीं की थी। ऐसे में अब तेल कंपनियों की योजना के अनुसार लॉकडाउन में हुए अपने नुकसान की भरपाई के लिए पेट्रोल-डीजल की खुदरा कीमतों में 8 रुपए तक की वृद्धि की जा सकती है। फिलहाल जानते हैं आज के दाम...

जियो प्लेटफॉर्म ने दुनिया में पहली बार सबसे अधिक निरंतर धन अर्जित किया

पेट्रोल की कीमत
इंडियन ऑयल (Indian Oil) की वेबसाइट के अनुसार आज देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 76.73 रुपए प्रति लीटर हो गई है। वहीं आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल 83.62 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है। बात करें कोलकाता की तो यहां एक लीटर पेट्रोल के लिए आपको 78.55 रुपए चुकाना होंगे। जबकि चैन्नई में पेट्रोल 80.37 रुपए प्रति लीटर में उपलब्ध होगा।

डीजल की कीमत
इसी तरह दिल्ली में आज डीजल 75.19 रुपए प्रति लीटर बेचा जा रहा है। वहीं मुंबई में डीजल की कीमत 73.75 रुपए प्रति लीटर हो गई है। कोलकाता में आपको एक लीटर डीजल 70.84 रुपए में उपलब्ध होगा। जबकि चैन्नई में एक लीटर डीजल के लिए आपको 73.17 रुपए चुकाना होंगे।

छत्तीसगढ़ ने रुख सख्त किया, एनएमडीसी लिमिटेड कठिन दौर में

इतनी बढ़ गई मांग
आपको बता दें कि लॉकडाउन के दौरान पेट्रोल- डीजल की कीमतों में राज्‍यों की ओर से वैल्‍यू ऐडेड टैक्‍स (VAT) बढ़ाया गया था। वहीं, सरकार ने उत्‍पाद शुल्‍क में 3 रुपए प्रति लीटर की वृद्धि कर दी थी। जिसे ईंधन की कीमत में वृद्धि हुई थी। वहीं अब 7 जून से सरकारी तेल कंपनियों (HPCL, BPCL, IOC) ने ईंधन की कीमतों में किए जाने वाले रोजाना बदलाव को दोबारा शुरू कर दिया है। वर्तमान की बात करें तो वर्तमान की बात करें तो देश में पेट्रोल के दाम 21 महीने के ऊपरी स्तर पर पहुंच गए है। इसका कारण मांग में वृद्धि होना है। तेल मंत्रालय के के मुताबिक, मई में तेल की कुल खपत 1.465 करोड़ टन रही, जो अप्रैल के मुकाबले 47.4 फीसदी ज्यादा है।

कमेंट करें
LOufK