comScore

AIIB की बैठक में बोले पीएम मोदी- निवेश के लिए भारत सबसे अनुकूल अर्थव्यवस्थाओं में से एक

June 26th, 2018 21:08 IST
AIIB की बैठक में बोले पीएम मोदी- निवेश के लिए भारत सबसे अनुकूल अर्थव्यवस्थाओं में से एक

हाईलाइट

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इंवेस्टमेंट बैंक (AIIB) की तीसरी वार्षिक बैठक को संबोधित किया।
  • पीएम ने कहा कि भारत सरकार ने देश में 'ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस' को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाए हैं ।
  • वर्तमान में निवेश के लिए भारत सबसे अनुकूल अर्थव्यवस्थाओं में से एक है।

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को 'आओ, भारत में निवेश करें' का नारा देते हुए कहा कि हम न्यू इंडिया की ओर बढ़ रहे हैं जो सभी के लिए आर्थिक अवसर और समग्र विकास प्रदान करता है। एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इंवेस्टमेंट बैंक (AIIB) की तीसरी वार्षिक बैठक को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि भारत सरकार ने देश में 'ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस' को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाए हैं और वर्तमान में निवेश के लिए भारत सबसे अनुकूल अर्थव्यवस्थाओं में से एक है।

बैठक में भारत की आर्थिक उप्लब्धियों को गिनाते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ग्लोबल इकॉनोमी में भारत विकसित देश बनकर उभरा है। यहां विदेश निवेश का प्रवाह तेजी से बढ़ा है और यह टॉप FDI स्थलों में से एक है। यहां उन्होंने GST का भी ज़िक्र करते हुए कहा कि इससे टैक्स प्रणाली में पारदर्शिता बढ़ी है।

कच्चे तेलों के बढ़ते दाम पर प्रधानमंत्री ने कहा कि तेल की बढ़ती कीमतों के बावजूद मुद्रास्फीति की दर को हमने थामे रखा है। देश का आर्थिक बुनियादी ढांचा मजबूत बना हुआ है।उन्होंने कृषि क्षेत्र पर भी अपनी बात रखी। पीएम ने कहा, 'कृषि भारतीय अर्थव्यवस्था की जीवनरेखा है। हम वेयर हाउसेज, कोल्ड चेन,  फूड प्रोसेसिंग और फसल बीमा संबंधित गतिविधियों में निवेश को बढ़ावा दे रहे हैं। हम बढ़ती उत्पादकता के साथ-साथ पानी के कम उपयोग सुनिश्चित करने के लिए माइक्रो इरिगेशन को भी बढ़ावा दे रहे हैं।'

एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इंवेस्टमेंट बैंक के अन्य सदस्य देशों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह भी कहा कि विकासशील देश होने के नाते हम सभी की चुनौतियां एक जैसी हैं और AIIB यहां रिसोर्सेज पैदा करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। पीएम मोदी ने कहा कि एशियाई महाद्वीप में अभी भी बहुत सी समस्याएं हैं। AIIB बैंक और भारत सरकार साथ मिलकर इन परेशानियों को दूर कर सकते हैं।

गौरतलब है कि AIIB एक मल्टीलेटरल डेवलपमेंट बैंक है, जो एशिया-पैसेफिक क्षेत्र में इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ावा देता है। इसके कुल 86 सदस्य देश हैं, जिनमें 22 भावी सदस्य देश हैं। बता दें कि इस साल की एआईबीबी बैठक का विषय था 'मोबिलाइज़िंग फाइनेंस फॉर इंफ्रास्ट्रक्चर: इनोवेशन एंड कोलेबोरेशन।' इसमें कई विद्वानों ने भाग लिया और अपने अपने विचार साझा किए।

कमेंट करें
AXG84