दैनिक भास्कर हिंदी: पीएमसी बैंक ग्राहकों को राहत, RBI ने विड्रावल लिमिट बढ़ाकर की 10,000 रुपए

September 27th, 2019

हाईलाइट

  • पंजाब और महाराष्ट्र सहकारी बैंक के ग्राहकों के लिए राहत भरी खबर हैं
  • RBI ने विड्रावल लिमिट को 1,000 रुपये से बढ़ाकर 10,000 रुपये कर दिया
  • जमाकर्ताओं की कठिनाई को कम करने की दृष्टि से ये छूट दी गई है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पंजाब और महाराष्ट्र सहकारी बैंक (पीएमसी) के ग्राहकों के लिए राहत भरी खबर हैं। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने गुरुवार को इस बैंक के खाताधारकों के लिए विड्रावल लिमिट को 1,000 रुपये से बढ़ाकर 10,000 रुपये कर दिया। बता दें कि इससे पहले आरबीआई ने निर्देश दिए थे कि अब पीएमसी बैंक के सेविंग/करंट या दूसरे अकाउंट से डिपॉजिटर्स 1 हजार रुपये से ज्यादा नहीं निकाल सकते।

आरबीआई ने एक बयान में कहा, 'इस निर्देश के अन्य नियम और शर्तें अपरिवर्तित रहेंगी। इस छूट के साथ, बैंक के 60% से अधिक ग्राहक अब अपने पूरे पैसे निकाल सकेंगे।' आरबीआई ने कहा, 'जमाकर्ताओं की कठिनाई को कम करने की दृष्टि से ये छूट दी गई है। रिज़र्व बैंक स्थिति की बारीकी से निगरानी कर रहा है और आगे भी कदम उठाता रहेगा क्योंकि बैंक के जमाकर्ताओं के हितों की रक्षा के लिए यह आवश्यक है।'

बता दें कि आरबीआई ने बैंक पर 6 महीने का प्रतिबंध लगाने के बाद निर्देश दिए थे कि पीएमसी बैंक के सेविंग/करंट या दूसरे अकाउंट से डिपॉजिटर्स 1 हजार रुपये से ज्यादा नहीं निकाल सकते। इन निर्देशों के बाद मुंबई और देशभर के दूसरे हिस्सों में पीएमसी बैंक की शाखाओं के बाहर लोगों की भीड़ लग गई और अफरातफरी का माहौल पैदा हो गया। छोटे जमाकर्ता और कारोबारी सबसे ज्यादा परेशान हैं। हालांकि, यह सुनिश्चित किया गया है कि उनका पैसा सुरक्षित है।

पंजाब ऐंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक की स्थापना 1984 में की गई थी। बैंक ने कुल 8,300 करोड़ के कर्ज दे रखे हैं जबकि बैंक में खातेदारों के 11,600 करोड़ रुपये जमा हैं। इस बैंक की 7 राज्यों महाराष्ट्र, दिल्ली, कर्नाटक, गुजरात, गोवा, आंध्र प्रदेश और एमपी में शाखाएं है। इसमें से अकेले महाराष्ट्र में 103 शाखाएं है जबकि कर्नाटक में 15, गोवा में 6 और दिल्ली में 6 शाखाएं है।