comScore

Gold-Silver Price: घरेलू वायदा बाजार में 57000 रुपये किलो हुई चांदी, रिकॉर्ड स्तर पर सोना

Gold-Silver Price: घरेलू वायदा बाजार में 57000 रुपये किलो हुई चांदी, रिकॉर्ड स्तर पर सोना

हाईलाइट

  • घरेलू बाजार में महंगी धातुओं के दाम में जबरदस्त उछाल
  • घरेलू वायदा बाजार में 57000 रुपये किलो हुई चांदी

डिजिटल डेस्क, मुंबई। वैश्विक बाजार में सोने और चांदी में मंगलवार को आई तेजी से घरेलू बाजार में भी महंगी धातुओं के दाम में जबरदस्त उछाल आया। खासतौर से चांदी का भाव घरेलू वायदा बाजार में 2013 के बाद पहली बार 57,000 रुपये प्रति किलो के पार चला गया। वहीं, सोने ने फिर एक नई उंचाई बनाई। एमएसीएक्स पर सोने का भाव 49576 रुपये प्रति 10 ग्राम तक उछला जोकि अब तक का रिकॉर्ड स्तर है।

चांदी के दाम में जोरदार छह फीसदी से ज्यादा की एक दिनी तेजी आई है। चांदी भारतीय वायदा बाजार में 2013 के बाद के ऊंचे स्तर पर है जबकि अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार कॉमेक्स पर 2016 के बाद के ऊंचे स्तर पर।

कमोडिटी बाजार विश्लेषक बताते हैं कि डॉलर के कमजोर होने से सोने और चांदी में निवेशकों का रुझान बढ़ा है। कोरोना काल में महंगी धातुओं में निवेश के प्रति बढ़ती लोगों की दिलचस्पी से सोना और चांदी में लगातार तेजी देखी जा रही है। खासतौर से चांदी की चमक कोरोना काल में ज्यादा बढ़ी है।

चांदी न सिर्फ कीमती धातु है बल्कि यह एक औद्योगिक धातु भी है और इसका उपयोग आभूषण के साथ-साथ उद्योग में भी होता है। चांदी का इस्तेमाल इलेक्ट्रॉनिक्स और फोटोग्राफी के अलावा कई अन्य सेक्टरों के उद्योगों में भी होता है।

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) पर चांदी के सितंबर एक्सपायरी अनुबंध में में बीते सत्र के मुकाबले 2935 रुपये यानी 5.43 फीसदी की तेजी के साथ 56,940 रुपये प्रति किलो पर कारोबार कर रहा था जबकि इससे पहले कारोबार के दौरान चांदी का भाव एमएसीएक्स पर 57,454 रुपये प्रति किलो तक उछला जोकि 2013 के बाद का सबसे ऊंचा स्तर है।

एमसीएक्स पर सोने के अगस्त वायदा अनुबंध में पिछले सत्र से 437 रुपये यानी 0.89 फीसदी की तेजी के साथ 49,464 रुपये प्रति 10 ग्राम पर कारोबार चल रहा था जबकि इससे पहले सोने का भाव एमसीएक्स पर 49,576 रुपये प्रति 10 ग्राम तक उछला जोकि अब तक का रिकॉर्ड स्तर है।

उधर, अंतर्राष्ट्रीय बाजार कॉमेक्स में चांदी के सितंबर वायदा अनुबंध में पिछले सत्र से 1.25 डॉलर यानी 6.19 फीसदी की तेजी के साथ 21.442 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार चल रहा था जबकि कारोबार के दौरान कॉमेक्स पर चांदी का भाव 21.628 डॉलर प्रति औंस तक उछला, जोकि 2016 के बाद का सबसे ऊंचा स्तर है।

कॉमेक्स पर सोने के अगस्त वायदा अनुबंध में पिछले सत्र से 24.15 डॉलर यानी 1.33 फीसदी की तेजी के साथ 1841.55 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार चल रहा था जबकि इससे पहले सोने का भाव कारोबार के दौरान 1843.60 डॉलर प्रति औंस तक उछला।

केडिया एडवायजरी के डायरेक्टर अजय केडिया ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए इससे निपटने के लिए राहत के उपायों की तरफ ज्यादा ध्यान दिया जा रहा है जिससे निवेश के सुरक्षित साधन के तौर पर सोने और चांदी को सपोर्ट मिल रहा है। उन्होंने कहा कि डॉलर में आई कमजोरी से भी महंगी धातुओं के प्रति निवेशकों का रुझान बढ़ा है।

बाजार के जानकार बताते हैं कि अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व की ओर से बाजार में तरलता बढ़ाने के लिए डॉलर डालने का सिलसिला लगातार जारी है जिससे निवेशकों का रुझान हार्ड एसेट्स व निवेश के सुरक्षित साधन की तरफ है जिनमें चांदी इस समय सबसे अधिक आकर्षक निवेश का साधन बन गई है। उधर, कोरोना के कारण मिल रही आर्थिक चुनौतियों से निपटने के लिए यूरोप में राहत पैकेज पर सहमति से भी कीमती धातुओं को सपोर्ट मिलेगा।

कमोडिटी बाजार विश्लेषक अनुज गुप्ता ने कहा कि चांदी की औद्योगिक मांग बढ़ने की संभावनाओं से इसकी कीमतों में तेजी आई है। उन्होंने कहा कि ईटीएफ की खरीदारी बढ़ने से भी चांदी को सपोर्ट मिला है।

-- आईएएनएस

कमेंट करें
y1eKt