दैनिक भास्कर हिंदी: कॉर्पोरेट डील: रिलायंस जियो में सिल्वर लेक ने 1.15% हिस्सेदारी खरीदी, 5655 करोड़ का निवेश किया

May 4th, 2020

हाईलाइट

  • सिल्वर लेक भी करेगी रिलायंस जियो में 5655 करोड़ का निवेश (लीड-1)

डिजिटल डेस्क, मुंबई, 4 मई (आईएएनएस)। फेसबुक के बाद अब एक और अमेरिकी कंपनी- सिल्वर लेक ने रिलायंस जियो में निवेश का ऐलान किया है। रिलायंस इंडस्टरीज लिमिटेड यानी आरआईएल ने सोमवार को कहा कि अमेरिकी प्राइवेट इक्विटी कंपनी सिल्वर लेक अब जियो प्लेटफॉर्म में 5655 करोड़ रुपए का निवेश करेगी। कंपनी के अनुसार, इससे पहले फेसबुक ने बीते महीने जियो में करीब 43000 करोड़ रुपए का निवेश किया।

इस निवेश से जियो प्लेटफार्म की इक्विटी का मूल्य 4.90 लाख करोड़ रुपए और इंटरप्राइज का मूल्य 5.15 लाख करोड़ रुपए हो गया है और 22 अप्रैल को घोषित फेसबुक के निवेश के इक्विटी वैल्यू की तुलना में यह 12.5 फीसदी प्रीमियम को दर्शाता है। आरआईएल के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा, सभी भारतीयों के फायदे के लिए भारतीय डिजिटल ईको-सिस्टम के सतत विकास और बदलाव में अहम हिस्सेदार के तौर पर सिल्वर लेक का स्वागत करते हुए मुझे प्रसन्नता हो रही है।

रिलायंस इंडस्टरीज ने 30 अप्रैल को कहा था कि निवेशकों की तरफ से उसे जोरदार निवेश की पेशकश मिली है और बड़े निवेश जियो प्लेटफॉर्म के लिए आ रहे हैं और फेसबुक के निवेश की तरह अगले महीने नये निवेश की घोषणा की जा सकती है। सिल्वर लेक दुनिया की अग्रणी प्रौदयोगिकी कंपनियों का अहम साझीदार रही है और इस मामले में इसका रिकॉर्ड बेहतर है।

मुकेश अंबानी ने कहा कि प्रौदयोगिकी और वित्त के क्षेत्र में सिल्वर लेक सम्मानित कंपनियों में शुमार है । उन्होंने कहा, भारतीय डिजिटल समाज में बदलाव लाने के लिए हम उनके वैश्विक प्रौदयोगिकी रिक्त का लाभ उठाने को लेकर रोमांचित हैं। रिलायंस जियो इन्फोकॉम लिमिटेड के 38,8 करोड़ सब्स्क्राइबर हैं और यह जियो प्लेटफॉर्म के पूर्ण स्वामित्व वाली अनुशंगी कंपनी बनी रहेगी।

सिल्वर लेक से को-सीईओ एवं मैनेजिंग पार्टनर एगॉन डरबन ने कहा, जियो प्लेटफॉर्म्स दु निया उल्लेखनीय कंपनियों में शुमार है और इसकी अगुवाई एक अतुलनीय शक्तिशाली और उद्यमी प्रबंधन टीम कर रही है जोकि सही मायने में एक साहसिक दर्शन से प्रेरित है। उन्होंने आगे कहा, इनके पास जो बाजार है उसमें भारी संभावना है। मुकेश अंबानी और रिलायंस जियो की उनकी टीम का साझेदार बनने में हमें गर्व है और खुशी हो रही है।

जियो का उददेश्य देश के 1.3 अरब लोगों, कारोबारियों, खासतौर से छोटे कारोबारियों और किसानों के लिए डिजिटल भारत के सपने को साकार करना है। इस साल की पहली तिमाही में रिलायंस का कंसोलिडेटेड टर्नओवर 659205 करोड़ रुपए, नकद मुनाफा 71446 करोड़ रुपये, और निवल मुनाफा 39880 करोड़ रुपए रहा है।

भारत में तेल, रिटेल व टेलीकॉम कंपनी समूह की अगुवाई वाली कंपनी जियो प्लेटफॉर्म में फेसबुक ने पिछले महीने 43674 करोड़ रुपए का निवेश किया। मुकेश अंबानी ने कहा कि निकट भविष्य मंे जियो मार्ट और व्हाटसएप से भारत में तीन करोड़ छोटी किराना दुकानें जुड़ जाएंगी और वे अपने पड़ोस के ग्राहकों से डिजिटल ट्रांजेक्श्ना करने लगेंगी।

 

खबरें और भी हैं...