comScore

छिंदवाड़ामें चार पॉजिटिव... मुंबई से लौटा इंजीनियर, सौंसर और पांढुर्ना के दो मजदूर भी कोरोना संक्रमित मिले

छिंदवाड़ामें चार पॉजिटिव... मुंबई से लौटा इंजीनियर, सौंसर और पांढुर्ना के दो मजदूर भी कोरोना संक्रमित मिले

डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। जिले में अब कोरोना संक्रमितों की संख्या चार हो गई है। एक दिन में तीन लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। कोरोना के इन नए केसों ने  जिलेवासियों को एक बार फिर चिंता डाल दिया है। गुरुवार शाम को दूसरा संक्रमित मुंबई से लौटने वाला सिविल इंजीनियर पाया गया है। इसके बाद देर रात प्राप्त रिपोर्ट में सौंसर और पांढुर्ना के दो मजदूरों की जांच रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। इसमें 1 मजदूर मुंबई तो दूसरा चैन्नई से लौटा है। खैरियत इस बात की मानी जा सकती है कि मुंबई से लौटे इंजीनियर की कोई चैन जिले में नहीं बन पाई है। समझदारी ऐसी कि वह मुंबई से आते ही सूचना देने कोतवाली पहुंचा था। पुलिस ने भी एहतियातन उसे जिला अस्पताल भेजा। वहीं सौंसर निवासी मजदूर तीन दिन पहले चैन्नई से लौटा था जिसे बैतूल से प्रशासन ने बस से छिंदवाड़ा लाया था। मजदूर का स्वास्थ्य खराब होने पर उसे सीधे जिला अस्पताल ला लिया गया था। इसी तरह पांढुर्ना निवासी मजदूर पांच दिन पूर्व मुंबई से लौटा है। जिसे छाबड़ी शेल्टर होम में रखा गया था। स्वास्थ्य खराब होने पर 26 मई को उसे जिला अस्पताल लाया गया था। प्रशासन दोनों मजदूरों की कांटेक्ट हिस्ट्री निकाल रहा है।
कांटेक्ट हिस्ट्री... मुंबई और चैन्नई से लौटे मजदूर-
- एसडीएम सीपी पटेल ने बताया कि पांढुर्ना निवासी मजदूर मुंबई से बैतूल तक ट्रेन में आया था। 21 मई को बैतूल से उसे बस से पांढुर्ना लाया गया। यहां स्वास्थ्य जांच के बाद उसे छाबड़ी शेल्टर होम में रखा गया था। मजदूर के बैतूल निवासी साथी कोरोना पॉजिटिव आया था। जिसके बाद एहतियात के तौर पर उसे 26 मई को जिला अस्पताल रेफर किया गया था। गुरुवार को उसकी जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसी तरह सौंसर निवासी संक्रमित तीन दिन पूर्व चैन्नई से लौटा था। बोरगांव शेल्टर होम में जांच के दौरान युवक बीमार मिला। एहतियात के तौर पर उसे सीधे जिला अस्पताल भेज दिया गया था। इस मजदूर की जांच रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। दोनों मजदूरों के साथ आए अन्य मजदूरों को क्वारेंटाइन सेंटर में शिफ्ट किया जा रहा है।    
कांटेक्ट हिस्ट्री... 25 मई को मुंबई से निकला था इंजीनियर-
पुलिस के मुताबिक कोरोना संक्रमित मिला इंजीनियर 25 मई को मुंबई से एसटी बस से निकला था। नागपुर पहुंचने के बाद 26 मई को वह ऑटो से सतनूर बार्डर पर आया। यहां से एक कार से लिफ्ट लेकर वह लिंगा बाइपास पर आया। लिंगा बाइपास से सब्जी की ऑटो से वह शहर में पहुंचा। 26 मई की सुबह लगभग दस बजे युवक कोतवाली में सूचना देने पहुंचा था। पुलिस ने उसकी हिस्ट्री जानने के बाद अस्पताल चैकअप के लिए भेज दिया था। चैकअप के बाद उसे मेल सर्जिकल में भर्ती कर 27 मई को स्वाव सेंपल जबलपुर भेजा गया था। 28 मई को उसकी जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।
होम क्वारेंटाइन हुए टीआई कोतवाली-
एसपी विवेक अग्रवाल ने बताया कि 26 मई की सुबह कोतवाली पहुंचे इंजीनियर को टीआई विनोद कुशवाह ने हिस्ट्री जानने के बाद युवक को फॉलो करते हुए जिला अस्पताल पहुंचाया था। टीआई की सतर्कता के वजह से युवक अन्य किसी के संपर्क में नहीं आया। युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आते ही एहतियात बरतते हुए टीआई विनोद कुशवाह ने अपने आप को होम क्वारेंटाइन कर लिया है।
 

कमेंट करें
cKYrz