दैनिक भास्कर हिंदी: तेंदुए की खाल समेत एक आरोपी गिरफ्तार, पकड़ा जा सकता है तस्कर गिरोह

January 1st, 2019

डिजिटल डेस्क, मंडला। स्थानीय पुलिस ने यहां एक आरोपी को तेंदुआ की खाल सहित गिरफतार किया है। मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के तटवर्ती सीमा पर कान्हा नेशनल पार्क लगा हुआ है। यहां सरंक्षित जीव जंतुओं का बसेरा है। जिनके सरंक्षण के लिए सालाना करोड़ों रूपए खर्च किए जा रहे, लेकिन वन्यप्राणीयों की जान पर शिकारियों का खतरा मंडरा रहा है। गत दिवस मोतीनाला पुलिस ने मंगली के आगे देवगांव के पास एक आरोपी को पकड़ा है। जिसके पास से थैले में तेंदुए की खाल मिली है। खाल की अंर्तराष्ट्रीय कीमत करीब पांच लाख की बताई गई। आरोपी से पुलिस पूछताछ कर रही है। खाल तस्करी से जुड़े और भी लोग जुड़े हुए। आरोपी के विरूद्व पुलिस ने वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 29,39,40,48,49,50 के अंतर्गत अपराध कायम किया है।

बताया गया है कि पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली की एक व्यक्ति करीब 29 से 35 साल का है, गहरे रंग की जैकेट पहना है मंगली फॉरेस्ट नाके के पास खड़ा है, जो कहीं जाने की फिराक में है। इस व्यक्ति के पास एक विमल का सफेद थैला है, जिसमें उसके पास शिकार के लिए वन्य प्राणी तेंदुए की खाल है। पुलिस ने पुख्ता सूत्रों से मिली खबर के आधार पर पुलिस अधीक्षक मंडला राकेश कुमार सिंह के निर्देश कार्रवाई के लिए स्वतंत्र साथी तलब किए गए उप निरीक्षक आनंद सिंह ठाकुर सहायक उपनिरीक्षक धनपाल बिसेन आरक्षक अंकित पटले, दुर्गेश राय ड्राइवर अजय परते अधिग्रहित वाहन क्रमांक एमपी 51 टी0759 से विवेचना एवं लेखन सामग्री लेकर रवाना हुए। पुलिस अस्थाई केम्प हर्राटोला में तैनात हॉक फोर्स को भी मोबाइल के जरिए एक पुलिस पार्टी जंगल सर्च करते हुए मंगली की तरफ रवाना हुई। मंगली के आगे फॉरेस्ट नाके के पास पहुंचकर बताए गए हुलिया एवं व्यक्ति की तलाश करते हुए मुख्य मार्ग एनएच 30 स्थित फॉरेस्ट नाके से लगभग 50 मीटर अंदर देवगांव की ओर जाने वाली सड़क पर आरोपी सीताराम पिता मानसिंह की 35 साल निवासी खैरानी थाना ढीमरखेड़ा जिला कटनी को पकड़ा गया।

पांच लाख रुपए है खाल की कीमत
आरोपी के पास थैले में तेंदुए की खाल मिली। बरामद खाल की अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत करीब 5 लाख आंकी गई है। खाल की कुल लंबाई 54 इंच के दोनों पैर की चौड़ाई 23 फीट की चौड़ाई 16 इंच और पीछे की दोनों की गर्दन से नाक की लंबाई 10 इंच है पूंछ की लंबाई 24 इंच,रंग हल्का कत्थई ब्राउन है। जिसके ऊपर काले रंग के धब्बे जैसी आकृति बनी हुई उक्त खान की पूंछ के बाल निकले हुए तेंदुए की खाल गीली है। जिसको लेकर बताया गया है कि तेंदुए कुछ दिन पूर्व ही शिकार हुआ है खाल में सिलवटे पड़ी हुई है।

जानकारों ने बताया है कि अन्य जिलों और राज्यों से आकर शिकारी यहां घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। आरोपी ने किसी से मिलकर खेत में करंट लगाकर शिकार किया गया है। वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 29,39,40,48,49,50 के अंतर्गत अपराध से आरोपी सीताराम पिता मानसिंह उइके उम्र 35 वर्ष निवासी ग्राम खैरानी थाना ढीमरखेड़ा जिला कटनी मध्य प्रदेश को गिरफ्तार कर प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। कार्यवाही में शमिल टीम को पुलिस अधीक्षक के द्वारा पुरुस्कृत करने की घोषणा की गई है।