लखनऊ: करहल के बाद जौनपुर में दोस्त के बेटे के लिए वोट मांगेंगे मुलायम

March 1st, 2022

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। मैनपुरी के करहल विधानसभा में अपने पुत्र और समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव के लिये वोट की अपील करने वाले पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव अब अपने जिगरी दोस्त रहे स्वर्गीय पारस नाथ यादव के बेटे एवं निवर्तमान विधायक लकी यादव के लिए वोट मांगेंगे।
सपा के बुजुर्ग नेता ने अभी तक सिर्फ करहल सीट पर जनसभा की है और अब पारसनाथ यादव के बेटे लकी यादव के प्रचार के लिए वह जौनपुर की मल्हनी विधानसभा में तीन मार्च को जाएंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी उसी दिन यहां रैली करेंगे।
मुलायम की यह रैली छठवें चरण के लिए 57 सीटों पर मतदान के दिन होने जा रही है। इस तरह से जौनपुर में मुलायम की रैली से सपा पूर्वांचल की सियासी लड़ाई में बढ़त हासिल करने की कोशिश में है। सपा संरक्षक ने 2017 के चुनाव में भी महज दो रैली की थी, जिनमें एक रैली शिवपाल यादव के लिए जसवंतनगर में और दूसरी जनसभा पारसनाथ यादव के लिए मल्हनी सीट पर की थी। मोदी लहर के बावजूद यह दोनों सीटें सपा जीतने में कामयाब रही थी। इस बार भी मुलायम सिंह यादव की सूबे में महज दो ही रैली रखी गई है, जिसमें एक अखिलेश की करहल सीट और दूसरी लकी यादव की मल्हनी सीट, इन दोनों जगह पर मुलायम सिंह यादव की रैली कराने के पीछे सपा की सोची समझी रणनीति भी मानी जा रही है।
करहल सीट पर चुनावी प्रचार में उतर कर मुलायम सिंह यादव ने पूरी यादव बेल्ट को सियासी संदेश दिया था, जहां 2017 में बीजेपी ने विपक्ष का सफाया कर दिया था। इसीलिए अखिलेश यादव अपने पुराने दुर्ग को बीजेपी से छीनने के लिए उतरे वहीं, अब मुलायम सिंह के मल्हनी सीट पर प्रचार कर लकी यादव के पक्ष में माहौल को बनाने के दांव के साथ-साथ पूर्वांचल में सपा को बड़ी जीत दिलाने का मकसद है।
दरअसल जौनपुर के एक तरफ अखिलेश यादव का संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ है तो दूसरी तरफ पीएम मोदी का संसदीय क्षेत्र काशी है, इस पूरे इलाके में सातवें चरण में चुनाव है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रैली जौनपुर मुख्यालय पर स्थित टीडी कॉलेज के मैदान में होगी, ऐसे में सपा ने भी मुलायम सिंह यादव की जौनपुर में उसी दिन रैली रखकर बड़ा सियासी दांव चला है।