comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

हाथी ने अपने महावत को कुचला : मौत , मजदूर को घायल किया - बांधवगढ़ टाईगर रिजर्व की घटना 

हाथी ने अपने महावत को कुचला : मौत , मजदूर को घायल किया - बांधवगढ़ टाईगर रिजर्व की घटना 

डिजिटल डेस्क, उमरिया। बांधवगढ़ टाईगर रिजर्व के खितौली रेंज में सुंदर नाम के हाथी ने महावत को कुचल दिया। हादसा गुरुवार सुबह उस समय हुआ जब सुबह की गश्त कर सुंदर हाथी अपने कैम्प लौटा था। तभी एक श्रमिक उसे बांधने के लिए पहुंचा, जिसे देखते ही सुंदर ने असहज होकर सूंड़ से उसे पटक दिया। यह देखकर  महावत रवि दौड़कर आया और हाथी को नियंत्रित किया। दोबारा फिर हाथी जंगल की तरफ भागने लगा इस बीच रास्ते में महावत रवि ने रोकने का प्रयास किया तभी हाथी की सूंड़ लगते ही वह नीचे जमीन में गिर गया और हांथी के पैरों के नीचे आ जाने से उसकी मौत हो गई। घटना की सूचना पर डायरेक्टर विंसेंट रहीम ने प्रभारी डीडी शुक्ला, मानपुर व पतौर रेंज से टीम बुलाकर हाथी का काबू किया। मृतक महावत का पीएम करवाकर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया है। 
 

क्या है स्वभाव में परिवर्तन का कारण 

हाथी के स्वभाव में परिवर्तन का कारण पार्क प्रबंधन को अभी तक समझ नहीं आ रहा है। वन्यजीवों से जुड़े लोगों का मानना है मस्त (फीमेल हाथी के साथ सहवास काल) के दौरान इस तरह का परिवर्तन होता है। या फिर भूख या किसी बीमारी से। इस मामले में अभी तक उसके स्वाभाव का सही आकलन नहीं लग पाया है। चूंकि सुंदर हाथी, हाथी महोत्सव के दौरान फुल मस्त में था, तब भी महावत व श्रमिक उसके साथ गश्त करते थे। बांधने से लेकर खान पान व नहाने सहित अन्य दिनचर्या के कार्य करते थे। सुबह करीब 11 बजे अचानक वह किसी चीज को लेकर असहज हुआ । 

अस्थाई कैम्प में प्रहरी हैं सुंदर व तूफान

नर हाथी सुंदर व मादा तूफान को खितौली रेंज के अस्थाई कैम्प में रखा गया था। कूम्हीं कछार नामक स्थल में इनके साथ सुरक्षा श्रमिक व महावत रहते थे। दरअसल नजदीक ही पतौर व खितौली में जंगली हाथियों की मूवमेंट रहती है। इसके अलावा बाघ भी आवासीय क्षेत्र पर न घुसे इसके लिए हाथियों से गश्त की जाती है। सुंदर व तूफान को इसीलिए बांधगवढ़ प्रबंधन ने यहां अस्थाई तौर पर रखा था।

इनका कहना है 

कुम्हीं कछार हाथी कैम्प में बांधने के दौरान यह घटना हुई है। हादसे में एक महावत नर हाथी सुंदर के साथ दुर्घटना में मृत हो गया। घटना में अन्य किसी को चोट नहीं आई। कैम्प को भी नुकसान नहीं पहुंचा। हाथी को नियंत्रित कर सुरक्षित कैम्प में रखा गया है। मृतक दैनिक वेतन भोगी को शासन के नियमानुसार मदद दी जाएगी।
विंसेंट रहीम, डायरेक्टर बांधवगढ़।

कमेंट करें
jNwG4