दैनिक भास्कर हिंदी: महाराष्ट्र सरकार को चार महीने में प्याज निर्यात से मिले 1443 करोड़ रूपए

November 2nd, 2017

डिजिटल डेस्क, लासलगांव। इस वर्ष प्याज निर्यात से  सरकार को चार माह में 1443 करोड़ रूपए का मुनाफा हुआ। वहीं प्याज निर्यात 56 प्रतिशत से बढ़ा है। जो कि पिछले वर्ष की तुलना में अधिक है। नाफेड ने यह जानकारी दी है। सुत्रों ने बताया की, इस वर्ष अप्रैल से जुलाई माह तक देश से 12.29 लाख टन प्याज दूसरे देशों में निर्यात किया गया था। इससे देश को 1 हजार 443 करोड़ रूपएं का मुनाफा हुआ।

 

वहीं पिछले वर्ष  एप्रिल से जुलाई माह तक  7.86 लाख टन प्याज की निर्यात की गई थी जिसमें 977 करोड़ रूपए का मुनाफा हुआ था। जो कि इस साल की तुलना में कम है। जिले के लासलगांव में प्याज का सबसे अधिक उत्पादन होता है। कई बार किसानों ने प्याज की उचित दाम नहीं मिलने पर फसल को नष्ट कर दिया था। प्याज उत्पादक किसानों को परेशानियों का सामना करना पड़ता था। लेकिन दूसरे देशों में प्याज की निर्यात होने लगी और प्याज निर्यात से सरकार को भी बड़े पैमाने पर मुनाफा हुआ है।

 

इससे लासलगांव के किसानों में खुशी का वातावरण है। केंद्र सरकार की ओर से प्याज निर्यात शुल्क शुन्य किया गया है। इससे प्याज कि निर्यात में इजाफा हुआ। अंतरराष्टृीय स्तर पर प्याज निर्यात को बढ़ावा मिला। इसके अलावा अगस्त 2016 से मर्चेटाइज एक्सपोर्ट फॉर्म इंडिया सेवा (एमइआयएस) योजना के अंतर्गंत प्याज निर्यात पर 5 प्रतिशत सबसीडी दी गई। जिसके बाद  मलेशिया, सिंगापुर, दुबई आदि देशों में प्याज की निर्यात शुरू हुई। 

 

प्रथमत: 34 लाख 92 हजार टन प्याज निर्यात हुआ है। इससे नाशिक जिले ने देश में अपना रिकार्ड कायम किया है।   

 

निर्यात इस प्रकार 

 

वर्ष          निर्यात संख्या टन में 

2009-10 - 18.73 लाख टन 

20010-11 - 13.40 लाख टन 

2011-12 - 15.52 लाख टन 

2012-13 - 18.22 लाख टन 

2013-14 - 13.50 लाख टन 

2014-15 - 10.86 लाख टन 

2015-16 - 11.14 लाख टन 

2016-17   34.92 लाख टन

2016-17 एप्रिल ते जुलाई  7.86  लाख टन

2017-18 एप्रिल ते जुलाई  12.29  लाख टन