दैनिक भास्कर हिंदी: महाराष्ट्र की टीम को मिली राष्ट्रीय खो-खो ट्रॉफी, गूंजा जय शिवाजी का जयघोष

December 9th, 2017

डिजिटल डेस्क उमरिया । स्टेडियम में शानदार खेल के बाद शुक्रवार को सभी राज्य के खो-खो खिलाड़ी उमरिया से रूखसत हुये। पांच दिनों तक चले मैचों में 29 राज्य के 468 खिलाड़ी, 87 टीम प्रशिक्षक व मैनेजर एवं 30 एसजीएफआई के अफसरों ने अपनी सेवाएं दीं। प्रतिस्पर्धा के शुभारंभ में आकर्षक व मनमोहक कैम्पफायर के बाद खिलाडिय़ों ने शानदार खेल से टूर्नामेंट को चार चांद लगा दिये। कलेक्टर की तत्परता और सख्त हिदायद रंग लाई और जाते-जाते खिलाड़ी छोटी सी जगह में शानदार व्यवस्था व आयोजन की प्रशंसा कर गये। विजयी टीम महाराष्ट्रा की खिलाडिय़ों को ट्राफी मिलते ही खुशी का ठिकाना नहीं था, मंच पर ही जमकर जय शिवाजी, गणपति बप्पा के जयघोष लगे। यही मंच में डीजे की धुन पर बच्चों ने जमकर ठुमके लगाकर खुशी जाहिर की।
कैम्प फायर में मिनी इण्डिया की झलक
प्रतिस्पर्धा के पहले जिला प्रशासन की अध्यक्षता में सभी आयोजक सदस्यों को अपने दायित्वों का अनुशासन के साथ पालन के निर्देश दिये गये थे। प्रतिस्पर्धा में कैम्प फायर की शानदार प्रस्तुति हर किसी को मुरीद कर गई। एक साथ सभी 29 राज्यों की टीम अपने सांस्कृतिक पारंपरिक वेशभूषा के साथ छोटे से शहर में मानो देश की झलक दिखा गये। इसी तरह सांस्कृतिक प्रस्तुति में जब महज अण्डर-17 आयु वर्ग छात्रा खिलाडिय़ों ने अपनी सांस्कृति का प्रदर्शन किया। उस समय हर कोई स्पब्ध रहकर बस निहारता ही रह गया। पंजाब टीम के भांगड़ा में दमनद्ववीप का साथ, चढ़ीगढ़ के साथ दूसरी टीमों का साथ मानो देश की अनेकता को एकता के सूत्र में प्रदर्शित कर रहा था।
पहुंचे सांसद, विधायकगण
बाल प्रतिभाओं को उत्साहित करने से चूके शहडोल सांसद ज्ञान सिंह, बांधवगढ़ विधायक शिवनारायण इस बार समापन कार्यक्रम में शामिल हुये। मानपुर विधायक सुश्री मीना सिंह ने शानदार प्रस्तुति के लिए जिला प्रशासन की तारीफ की। उन्होंने कहा प्रतिस्पर्धा के दौरान छात्राओं से बातचीत करने पर मानो ऐसा लग रहा था, जैसे हम उमरिया नहीं किसी बड़े शहर में पहुंच गये हों। हम प्रयास करेंगे इस तरह के आयोजन हर साल हों। सांसद ज्ञान सिंह ने भी छात्रों के उज्जवल भविष्य की कामना कर उत्साहित किया।
स्थानीय स्कूलों की शानदार प्रस्तुति
राष्ट्रीय शालेय खो-खो प्रतियोगिता के अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का स्थानीय स्कूलों के बच्चों ने शानदार कार्यक्रम दिया। नेहरू कान्वेंट स्कूल के बच्चों ने राष्ट्रभक्ति पर आधारित डांस, कन्या शिक्षा परिसर की छात्राओं ने  पहले चंदी के सिक्के चलते थे अब चले कागजियां नोट जमाना बदल गया की मनोहारी प्रस्तुति, उत्कृष्ट के छात्र छात्राओं ने आदिवासी नृत्य तथा ऐतिहासिक मोहर्रम, सेट्रल एकेडमी के छात्र छात्राओं ने  कालियों कूद पड़ो मेलों में  सायकल पंचर करि लायो ने राजस्थानी वेशभूषा में नृत्य प्रस्तुत कर खूब तालियां बटोरी।
ये रहे मौजूद
राष्ट्रीय शालेय खो-खो प्रतियोगिता में महाराष्ट्र ने दिल्ली को हराकर विजेता बनी वहीं दिल्ली उप विजेता रही। तीसरा स्थान गुजरात की टीम को मिला। विजयी टीमों को सांसद ज्ञान सिंह, विधायक मीना सिंह, शिवनारायण सिंह, कलेक्टर माल सिंह, पुलिस अधीक्षक असित यादव ने संयुक्त रूप से गोल्ड मैडल एवं ट्राफी प्रदाय कर सम्मानित किया। पुरस्कार समारोह में जगत नारायण गुप्ता, नरेंद्र गिरी, धनुषधारी सिंह, कमल सिंह, प्यारे लाल बैगा, पुष्पेंद्र,  मनीष तिवारी, सहायक आयुक्त आजाक आनंद राय सिन्हां, जिला शिक्षा अधिकारी रणमत सिंह, डॉ. ओपी चौधरी, जिला क्रीडा अधिकारी शेख सलीम, रूजदा खान, एपीसी सुशील मिश्रा सहित बड़ी संख्या में खिलाड़ी एवं खेल प्रेमी उपस्थित रहे।