दैनिक भास्कर हिंदी: उमरिया: घर में घुसकर व्यापारी की हत्या, पत्नी व बेटी गंभीर

January 21st, 2019

डिजिटल डेस्क, उमरिया। मध्य प्रदेश के उमरिया जिले में रविवार देर रात अज्ञात आरोपी ने व्यापारी के घर में घुसकर तलवार से हमला कर दिया। हमलावार ने व्यापारी समेत उसकी पत्नी और बेटी को भी अपना निशाना बनाते हुए तलवार से कई जानलेवा वार किए। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया। घटना में व्यापारी की अस्पताल में ईलाज के दौरान मौत हो गई तो वहीं पत्नी कोमा में है और बेटी  की हालत गंभीर बतायी जा रही है।

आरोपी छत के रास्ते हो गया फरार
पुलिस ने बताया कि चंदिया निवासी व्यापारी सुरेश अग्रवाल पत्नी व बच्ची पर अज्ञात हमलावरों ने तलवार से हमला कर दिया। रविवार रात करीब साढे़ 10 बजे नकाबपोश अज्ञात हमलावर द्वारा सुरेश के पेट व सिर में दर्जनों पर वार किया गया। बीच बचाव करने पहुंची पत्नी संगीता व 15 वर्षीय बेटी कशिश पर भी हथियार से हमला हुआ। बेटी किसी तरह लहूलुहान होकर बचकर भागने में सफल रही। शोर शराबा कर लोगों को मदद के लिए बुलाया। तब तक आरोपी छत के रास्ते कूदते फांदते भाग निकला। घटना में आहत व्यापारी व पत्नी को आनन-फानन में इलाज के लिए कटनी भेजा गया, जहां अस्पताल पहुंचने के पूर्व सुरेश अग्रवाल की मौत हो गई। पत्नी व बेटी का कटनी में इलाज जारी है। सनसनीखेज हत्या के बार पूरे गांव में दहशत का माहौल है।

सिर व पेट में किए कई घातक वार
पुलिस सूत्रों के मुताबिक रोंगटे खड़े कर देने वाली यह घटना में रविवार रात साढ़े दस बजे के आसपास की बताई जा रही है। सुरेश अग्रवाल परिवार के साथ चंदिया गढ़ी मोहल्ला स्थित अपने घर में था। तभी अज्ञात नकाबपोश ने व्यापारी के सिर व पेट में एक के बाद एक कई वार किए, जिसके बाद अस्पताल ले जाने के बाद सुरेश की मौत हो गई।  

पत्नी व बेटी भी गंभीर रूप से घायल
पुलिस ने बताया कि संगीता अग्रवाल की नजर पति पर पड़ते ही वह बीच बचाव के लिए पहुंची लेकिन नकाबपोश ने उन पर भी सिर पर कई हमले किए। खून की धार बहने लगी। घटना में 15 वर्षीय पुत्री कशिश अग्रवाल ने खुद को बचाने के लिए हाथ लगाया तो तलवार से हाथ में गहरा घाव करते हुए उसे भी लहूलुहान कर दिया। फिर भी बच्ची ने हिम्मत जुटाकर भागते हुए पड़ोस में लोगों के बीच पहुंच गई। सभी लोग जब तक मदद के लिए पहुंच पाते। व्यापारी सुरेश व पत्नी संगीता बुरी तरह खून से लथपथ पड़े थे। रक्त रंजिश हालत देखकर चंदिया अस्पताल ले जाया गया, जहां प्राथमिक उपचार कर कटनी के लिए रैफर कर दिया गया।

छावनी में तब्दील हुआ चंदिया
नृशंस हत्या की खबर नगर समेत जिले में फैलते ही रात से ही इलाके में दहशत का महौल है। पुलिस अधीक्षक डॉ. असित ने रात में ही घर पहुंचकर स्थल की घेराबंदी करते हुए टीम को नाकेबंदी के साथ सभी थानों को एलर्ट होकर सर्चिंग के निर्देश दिए। अतिरिक्त पुलिस बल उमरिया से जांच में लगाया गया। एसपी ने बताया घायल संगीता अग्रवाल बयान देने की स्थिति में नहीं थी। बच्ची से पूछताछ पर कुछ मदद मिली है। जल्द ही आरोपी पुलिस हिरासत में होगा।

डॉक्टर के खिलाफ फूटा गुस्सा
व्यापारी सुरेश अग्रवाल नगर का प्रतिष्ठित व्यक्ति बताया जाता है। परिवार पर जानलेवा हमले के बाद सुरक्षा को लेकर सवालिया निशान उठना शुरु हो चुके हैं। घायलों को पहले रक्तरंजिश हालत में चंदिया अस्पताल लाया गया था, जहां इलाज में देरी का आरोप लगाते हुए लोगों ने डॉक्टर को हटाने का ज्ञापन दिया है। ज्ञापन में उल्लेखित किया गया है कि डॉ. विकास सहगौरा व पत्नी छवि सोलंकी एक घण्टे तक इलाज नहीं किया गया। इस तरह की लापरवाही पूर्व में भी हो चुकी हैं। इसलिए इन्हें तत्काल यहां से हटाया जाए। साथ ही 24 घण्टे में दोनों डॉक्टर को हटाते हुए आरोपी को पकड़ने का अल्टीमेटम दिया गया है। अन्यथा परिजन अग्नि संस्कार रोककर व्यापारी अनिश्चित कालीन बाजार बंद देंगे।

 

खबरें और भी हैं...