दैनिक भास्कर हिंदी: मिड डे मील : स्टूडेंट अधिक पर कम मिल रहा अनाज

December 22nd, 2017

डिजिटल डेस्क  डिण्डौरी। जिले के 1837 प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाओं में ऑनलाइन पोर्टल पर विद्यार्थियों की संख्या एक लाख 7915 दर्ज की गई है और प्रत्येक माह विद्यार्थियों की जो उपस्थिति शासन के पास मध्यान भोजन के लिए भेजी गई है उसमें 25 फीसदी विद्यार्थियों के कम होने की जानकारी दी जाती रही है। ऐसे हालात में आ रहे 75 से 80 फीसदी विद्यार्थियों के लिए जो अनाज उपलब्ध कराया जा रहा है वह नाकाफी है। इस मामले में विभागीय स्तर पर लगातार अनाज का कोटा बढ़ाए जाने की मांग की जाती रही है, जिसके तहत अब शासन ने एम शिक्षा पोर्टल पर अटेडेंस फीड करने को आधार मानते हुए अनाज उपलब्ध कराए जाने की बात कही है और इसके लिए आदेश गत गुरूवार 14 दिसम्बर से जारी हुए। यहां बताया गया है कि डीपीसी के द्वारा यह जानकारी भेजी जाना है, लेकिन करंजिया, बजाग तथा मेहंदवानी विकासखण्ड के हालात सर्वर न मिलने के कारण खासे खराब है और इन हालातों में वास्तविक फीडिग हो पाना संभव दिखाई नहीं दे रहा है। जिसे लेकर अधिकारियों ने अपनी समस्याएं भी शासन को बताई है। मध्यान भोजन को लेकर जहां शासन के नए नियम निर्देश जारी हुए है वहीं जिले में चल रही अव्यवस्थाओं को लेकर अनेक समूहों पर कार्रवाई किए जाने की भी मांग की जाती रही है। जहां वर्तमान हालात में 9 समूहों पर मामला दर्ज कर उनके निलंबन की कार्रवाई विभागीय स्तर पर की जा रही है।
इन समूहों पर होगी कार्रवाई
बताया जाता है कि लगातार मिल रही शिकायतों के बाद जिन 9 समूहों पर कार्रवाई की गई है उन 9 समूहों में मेहंदवानी विकासखण्ड के कुसेरा, दिव्य स्वसहायता समूह समनापुर, हटकटा, बम्हनी, हिनौता, राहीवाड़ा, राई, कोडिया, बि_देही और रहंगी है। इन समूहों में कहीं मीनू के हिसाब से खाना नहीं दिया जाना तो कहीं फर्जी हस्ताक्षर कर राशि निकाले जाने का मामला सामने आया है वहीं वि_देही शाला में बच्चे के ऊपर दाल गिरने के मामले को गंभीरता से लिया गया था जिसके तहत उक्तसमूह पर कार्रवाई की गई है। अधिकारियों का कहना है कि लापरवाही बरतने वाले समूहों को नहीं बक्शा जाएगा और उन पर नियमत: कार्रवाई होगी।
इनका कहना है
कम आ रहे खाद्यान्न को लेकर अब विद्यार्थियों की उपस्थिति एम पोर्टल के माध्यम से देने के निर्देश दिए गए है। जिसके तहत फीड संख्या के आधार पर खाद्यान्न उपलब्ध होगा। वहीं 9 समूहों पर लापरवाही बरतने के मामले में कार्रवाई की गई है।
आनंद मौर्य, प्रभारी एमडीएम डिण्डौरी