• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Narsinghpur - Youth commits suicide in police station, 4 policemen including in-charge suspended

दैनिक भास्कर हिंदी: नरसिंहपुर - थाने में युवक ने की आत्महत्या, प्रभारी समेत 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड - पलोहा थाना की घटना मजिस्ट्रियल जांच शुरू  

June 17th, 2021

डिजिटल डेस्क नरसिंहपुर/गाडरवारा । जिले के पलोहा थाने में मंगलवार रात अपहरण, दुष्कर्म, एससी-एसटी एक्ट के आरोपी वीरन (40) पिता संतोष उर्फ संतू निवासी रिछावर नयाखेड़ा जिला रायसेन ने पुलिस अभिरक्षा में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सूत्रों की मानें तो सोमवार को पुलिस उसे धार जिले के पीथमपुर से गिरफ्तार करके लाई थी। उसके साथ प्रताडऩा एवं मारपीट की गई, जिससे व्यथित होकर उसने आत्महत्या कर ली। 
मृत वीरन के भांजे प्रहलाद लोधी ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उसने कहा, वीरन को पीथमपुर जिला धार से रविवार को गिरफ्तार कर लाया गया था। मृतक पर आरोप था कि किसी लड़की को लेकर भागा है। मेरे मामा को पीथमपुर से पलोहा थाना लाए। बुधवार को उसके मृत होने की जानकारी दी गई। मामा के साथ  जमकर मारपीट की गई, जिससे उसकी नाक, मुंह से खून बह रहा था। साथ ही शरीर पर चोट के निशान थे। भाई मेहरबान सिंह ने कहा, लड़की पक्ष द्वारा थाने में पार्टी की गई और उसके भाई को पीटा गया।
आरोपी को पिलर से बांधकर रखा था
पुलिस सूत्रों के अनुसार थाने का लॉकअप खराब होने की वजह से आरोपी वीरन को बाहर हथकड़ी लगाकर एक पिलर से बांधकर रखा गया था। रात के समय मौका पाकर उसने हथकड़ी से ही फांसी लगा ली। इस दौरान रात्रि ड्यूटी पर तैनात पुलिस की लापरवाही भी सामने आई है। अस्पताल पहुंचे मृतक के परिजन मेहरबान, रेवती, प्रहलाद लोधी ने कहा, पुलिस अभिरक्षा में उसने कैसे आत्महत्या की? इसकी जांच होनी चाहिए। पोस्टमार्टम कराने जब शव को गाडरवारा अस्पताल लाया गया तो तनाव की आशंका के मद्देनजर बड़ी संख्या में पलोहा, गाडरवारा एवं अन्य थानों से पुलिस फोर्स बुलाई गई। इस मामले में मजिस्ट्रियल जांच शुरू कर 3 सदस्यीय टीम डॉ. केएस राजपूत के नेतृत्व में गठित की गई है। वहीं, दूसरी ओर थाना प्रभारी सरोज ठाकुर की कार्यप्रणाली पर भी सवालिया निशान लगा है।  
पुलिसकर्मियों की भूमिका की होगी जांच  
इस मामले में पलोहा थाना प्रभारी सरोज ठाकुर, सहायक उपनिरीक्षक पंचमलाल उइके एवं आरक्षक दीपक राजपूत, सिद्धार्थ शर्मा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। एसपी नरसिंहपुर विपुल श्रीवास्तव ने कहा, सभी पुलिसकर्मियों की ड्यूटी के दौरान थाने में घटना होने पर जांच की जाएगी। पूरे घटनाक्रम की जांच कर परिजनों को न्याय दिलाया जाएगा।  
एक चर्चा यह भी...  
आरोपी को जिस स्थान पर हथकड़ी से बांधकर रखा गया था। वहां ऐसा कोई हुक या कोई चीज नहीं है जिसमें लटककर फांसी लगाई जा सके। ऐसे में उसकी मौत संदेहास्पद लगती है।  
 

खबरें और भी हैं...