दैनिक भास्कर हिंदी: 110 बसें चलाने की हुई थी घोषणा, दमोह नहीं पहुंची एक भी, प्रधानमंत्री ने किया था लोकार्पण

September 12th, 2018

डिजिटल डेस्क, दमोह। प्रदेश के विभिन्न मार्गो सहित दमोह से भी एसी तथा नॉन ऐसी बसें चलाई जाने की घोषणा उस समय की गई थी जब 3 माह पूर्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ई लोकार्पण के माध्यम से भोपाल में 110 बसे लोकार्पित की थीं। लेकिन दमोह से अभी तक एक भी बस  प्रारंभ नहीं की गई है। अधिकारियों का दावा है कि यह बसें शीघ्र प्रारंभ की जाएंगी, लेकिन हकीकत यह है कि अब तक इनके आरटीओ को संबंधित कार्यवाही को भी पूरा नहीं किया जा सका है। लोकार्पण के दौरान बीसीएलएल के डायरेक्टर केवल मिश्रा ने इस बात का दावा किया था की 25 जून से हर हाल में जबलपुर से बस सेवा शुरू कर दी जाएगी, लेकिन अभी तक भोपाल से ही जबलपुर को शुरू नहीं हो सकी है तो दमोह की सोच काफी दूर तक इंतजार के लिए रखना पड़ सकता है। इस वादे को पूरा करने के लिए अब चुनाव के बाद ही कुछ होना संभव प्रतीत हो रहा है।

सूत्र सेवा को ना सिर्फ राजधानी भोपाल बल्कि प्रदेश के अन्य शहरों को भी लाभ देने के लिए बनाया गया है और इसमें दमोह भी पहले ही चरण में शामिल किया गया था। इस योजना के तहत जबलपुर से दमोह, जबलपुर दमोह भोपाल, जबलपुर दमोह छतरपुर, जबलपुर दमोह पन्ना, जबलपुर दमोह टीकमगढ़, जबलपुर दमोह सागर मार्ग का चयन किया गया था। इन मार्गों पर इन बसों का चलना शुरू किया जाना था, लेकिन 3 माह बीतने के बाद भी इस दिशा में किसी भी प्रकार का प्रयास होता दिखाई नहीं दे रहा है। जब इस संबंध में बी सी एल एल के डायरेक्टर केवल मिश्रा से बात की तो उनका कहना था शीघ्र ही इस दिशा में प्रयास किए जा रहे हैं और शीघ्र ही अमल होगा।

स्टूडेंट पुलिस कैडेट योजना की दमोह से शुरुआत
दमोह गृह मंत्रालय द्वारा पुलिस आधुनिकीकरण योजना के तहत स्टूडेंट पुलिस क्रेडिट योजना के क्रियान्वयन के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विक्रम सिंह कुशवाहा प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी एस एन हसन की उपस्थिति में स्कूलों के प्राचार्य की बैठक आयोजित की गई। जिसमें जिले के ऐसे 15 स्कूलों का चयन किया गया जिसमें कक्षा आठवीं व नवमी   संचालित हो रही हो उक्त योजना के क्रियान्वयन के लिए बैठक में विचार विमर्श किया गया। जिसमें चयनित 15 स्कूलों से प्रत्येक स्कूल से 20 20 छात्र छात्राओं को चयनित कर उन्हें पुलिस व शिक्षा विभाग के सहयोग से 2 वर्ष का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

स्टूडेंट पुलिस क्रेडिट योजना के अंतर्गत बच्चों का इंडोर एक्टिविटी में स्टूडेंट पुलिस कैडेट योजना का उद्देश्य एवं पुलिस संगठन की सामान्य रूपरेखा से अवगत कराते हुए अनेक विषयों पर प्रशिक्षण दिया जाएगा। बैठक में श्री कुशवाहा ने बताया कि इस दौरान पुलिस अपराध की रोकथाम व नियंत्रण सामुदायिक पुलिसिंग विद्यार्थी सड़क सुरक्षा एवं यातायात संबंधी जागरूकता सामाजिक बुराइयों का निवारण महिलाओं एवं बच्चों की सुरक्षा आपदा प्रबंधन तथा डिर्ल आत्मरक्षा एवं शारीरिक प्रशिक्षण दिया जाएगा।