comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

ई-अटेंडेन्स प्रणाली “प्रयास“ से हो रहे कार्मिक के सेवा संबंधी काम

January 22nd, 2021 15:07 IST
ई-अटेंडेन्स प्रणाली “प्रयास“ से हो रहे कार्मिक के सेवा संबंधी काम

डिजिटल डेस्क, रायसेन। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी के ई-अटेन्डेंस प्रणाली “प्रयास“ को सफलता के पॉंच वर्ष पूर्ण हो गये हैं। इस ई-अटेन्डेंस प्रणाली से मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के नियमित, संविदा एवं आउटसोर्स कार्मिकों की अटेण्डेन्स ली जा रही है। साथ ही अवकाश आवेदन, अवकाश स्वीकृति, वेतन एवं ऑनलाईन गोपनीय चरित्रावली आदि सभी कार्य किये जा रहे हैं। “प्रयास“ से आया अभूतपूर्व बदलाव मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने आधार नंबर की मदद से कंपनी कार्य क्षेत्र के सभी 16 जिलों में कार्यरत् अधिकारियों और कर्मचारियों की हाजिरी लगाना कोई पॉंच वर्ष पहले शुरू की थी। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी राज्य की पहली वितरण कंपनी है जिसने आधार नंबर का उपयोग हाजिरी लगाने के लिए किया है। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के कार्य क्षेत्र के छोटे-बड़े 218 शहरों के 426 से भी अधिक कार्यालयों में आधार आधारित हाजिरी लगाई जा रही है। इस बदलाव से विद्युत वितरण कंपनी के दफ्तरों में अधिकारी और कर्मचारी समय पर आफिस पहुंच रहे हैं, जिससे कार्य में बदलाव देखा जा रहा है। हाजिरी का सारा ब्यौरा ऑनलाइन दर्ज किया जा रहा है। हाजिरी के लिए बनाई गई वेबसाइट एवं मोबाइल एप पर हाजिरी का सारा ब्यौरा कभी-भी देखा जा सकता है। कंपनी ने आधार बेस्ड अटेंडेंस सिस्टम के तहत थम्ब इंप्रेशन डिवाइस और आईरिश मशीन लगाई है। कम्प्यूटर सिस्टम पर प्रत्येक कर्मचारी पहले अपना आधार नंबर टाइप करता है। फिर उंगली या अंगूठा रखकर मशीन पर लगाता है, दो सेकंड के अंदर हाजिरी लगने का मेसेज़ कम्प्यूटर स्क्रीन पर दिखने लगता है। अटेंडेंस प्रणाली में सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के आधार नंबर को सिस्टम में दर्ज किया गया है। थम्ब मशीन से हथेली की दस उंगलियों में से किसी एक से भी हाजिरी लगाई जा सकती है। इसके अलावा ऑंखों के रेटिना से भी हाजिरी लगाने के लिए अलग से मशीन लगाई गई है। कोरोना काल में सेल्फी से दर्ज हो रही है उपस्थिति मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा कोविड-19 के कारण उत्पन्न परिस्थितियों के दृष्टिगत कंपनी के अधिकारियों/कर्मचारियों द्वारा अपनी उपस्थिति दर्ज करने के लिए कंपनी में प्रचलित आधार आधारित बायोमेट्रिक उपस्थिति प्रणाली की वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में सेल्फी आधारित उपस्थिति प्रणाली लागू की है। इस प्रणाली में उपस्थिति दर्ज करने के लिए कार्मिक को अपने कार्यालय में प्रवेश कर निर्धारित शिफ्ट/समय पर उपस्थित होकर अपने स्वयं के मोबाईल से कंपनी के “प्रयास एप” को खोलकर सेल्फी के माध्यम से उपस्थिति दर्ज करने की सुविधा दी गई है। इसके माध्यम से कार्मिकों की उपस्थिति अक्षांश एवं देशांतर (Longitude/Latitude) के आधार पर दर्ज हो रही है तथा कार्यालय छोडते समय भी समान प्रक्रिया का पालन कार्मिकों द्वारा किया जा रहा है।

कमेंट करें
zCtBS