दैनिक भास्कर हिंदी: दमोह उपचुनाव पर सियासत - विधायक रामबाई और गोविंद सिंह के बहाने सिद्धार्थ ने साधा प्रदेश सरकार पर निशाना

March 19th, 2021

कहा- जब सुको का आदेश होगा, क्या तभी गिरफ्तारी होगी
डिजिटल डेस्क दमोह ।
उपचुनाव से ठीक पहले दमोह में सियासी पारा काफी ऊपर चढ़ गया है। भाजपा सरकार में पूर्व मंत्री रहे जयंत मलैया के बेटे सिद्धार्थ मलैया ने गुरुवार को पथरिया विधायक रामबाई और उनके पति व देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड के आरोपी गोविंद सिंह के बहाने प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा। प्रेस कॉन्फ्रेंस में सिद्धार्थ ने कहा, 10 दिन पहले तक जो सरकार की आंख के तारे थे, आज उन्हीं पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर कार्रवाई की जा रही है। हालात यदि ऐसे ही रहे तो वह दिन ज्यादा दूर नहीं, जब सुप्रीम कोर्ट का आदेश होने पर ही बहुचर्चित देवेंद्र चौरसिया  हत्याकांड के मुख्य आरोपी गोविंद सिंह की गिरफ्तारी की जाएगी। चर्चा के दौरान सिद्धार्थ ने पत्रकारों को उन 123 मामलों की सूची दी, जो विधायक रामबाई के पति, देवर और भतीजे व अन्य पर दर्ज किए गए हैं। 
मौजूदा हालातों के कारण आज रखी अपनी बात 
सिद्धार्थ ने कहा, विधायक रामबाई ने कई बार उनके अलावा उनके पिता जयंत मलैया के खिलाफ आपत्तिजनक बयानबाजी की, लेकिन उन्होंने कभी जवाब नहीं दिया। वैसे मेरी मंशा उपचुनाव के बाद अपनी बात सभी के सामने रखने की थी, लेकिन मौजूदा हालातों के चलते मैं आज ही अपनी बात रख रहा हूं। 
शीर्ष अदालत कर रही सरकार का काम
प्रदेश सरकार के कामकाज पर निशाना साधते हुए सिद्धार्थ ने कहा, सुप्रीम कोर्ट जब कोई आदेश देगा, क्या सरकार तभी कार्रवाई करेगी। सरकार होने के बाद जो काम खुद पुलिस और प्रशासन को करने थे, वो देश की शीर्ष अदालत के आदेश पर हो रहे हैं। कहना गलता न होगा कि सर्वोच्च अदालत को अब सरकार का काम करना पड़ रहा है। 

खबरें और भी हैं...