दैनिक भास्कर हिंदी: मिड डे मील में नहीं मिल रहा खाना, भूख से छात्राएं हो रहीं बेहोश

November 9th, 2017

 डिजिटल डेस्क डिण्डौरी। मध्यांह भोजन की व्यवस्था के बाद भी स्कूलों में अध्यरत छात्र -छात्राओं के भोजन की समस्या हल नहीं हुई है । दूर दराज के गांवों से स्कूल आने वाली छात्राएं भूख के कारण चक्कर खाकर  बेहोश हो रहीं हैं और ग्रामीण लोग इसे लेकर तरह -तरह की चर्चा  करते हैं । जिला मुख्यालय के अंतर्गत ग्राम जोगीटिकरिया में माध्यमिक शाला की छात्राएं अचानक बेहोश हो रही है जिसे लेकर स्कूल में तरह-तरह की चर्चाएं व्याप्त है वहीं इस मामले में अस्पताल लाए जाने के बाद उपचार के दौरान चिकित्सकों का कहना है कि भूखे पेट रहने तथा मौसम में हो रहे बदलाव का असर छात्राओं पर दिखा है। जिन्हें प्रारंभिक उपचार दिया गया है। बताया जाता है कि जोगीटिकरिया में शासकीय माध्यमिक शाला में कक्षा 6वीं तथा 7वीं में अध्ययनरत सुलोचना यादव तथा निधि यादव अचानक बेहोश हो गई। बेहोश होने के पूर्व छात्राओं की स्थिति मचलने वाली रही। जिसे देखकर शाला शिक्षिका निशा परस्ते ने तत्काल छात्राओं के परिजनों को सूचित किया वहीं आटो कर छात्राओं को जिला अस्पताल लेकर पहुंची है। जहां चिकित्सकों ने दोनों छात्राओं का विधिवत चैकअप कर उनका उपचार शुरू किया है बताया जाता है कि जोगीटिकरिया माध्यमिक शाला में ऐसी घटना पूर्व में भी घटित हो चुकी है जहां एक छात्रा अचानक बेहोश होकर गिर पड़ी थी। इस मामले में शिक्षिका कहना है कि बच्चों में पढ़ाई का टेंशन और खाली पेट होना सामने आ रहा है। बहरहाल दोनों छात्राओं का उपचार जिला चिकित्सालय में चल रहा है जहां वे स्वस्थ्य बताई जा रही है।
दोपहर में मिलता है मध्यांह भोजन
जोगीटिकरिया में शासकीय माध्यमिक शाला शिक्षिका निशा परस्ते ने बताया कि स्कूल दोपहर पाली का है और यहां छात्राओं को अपरांह में मध्यांह भोजन उपलब्ध कराया जाता है । घटना दिवस को भी  मध्यांह भोजन की व्सवस्था थाी किंतु उसके पहले ही दोनो छात्राओं का स्वास्थ्य बिगड़ गया ।
प्रोटीन व विटामिन की कमी
देखा जा रहा है कि अधिकांश छात्राओं में प्रोटीन व विटामिन की कमी मिल रही है। जिसकी मुख्य वजह मध्यान भोजन में सब्जी व दालों की मौजूदगी का न रहना है। सूत्रों का कहना है कि ऐसे हालात जिले के अनेक स्कूलों में सामने आ रहे है। जहां गत वर्ष करंजिया के अंतर्गत एक शाला में भी बच्चों के बेहोश होने का मामला सामने आया था।