comScore

रात को सब्जी लेने गए बच्चे वहीं कचरे के ढ़ेर पर सो गए - गश्त कर रही पुलिस ने घर पहुंचाया

रात को सब्जी लेने गए बच्चे वहीं कचरे के ढ़ेर पर सो गए - गश्त कर रही पुलिस ने घर पहुंचाया

डिजिटल डेस्क करेली । यहां दो मासूम बच्चे सब्जी लेने बाजार गए और फिर वहीं कचरे के ढ़ेर पर सो गए । भला हो पुलिस का कि उसकी नजर इन बच्चों पर पड़़ गई और उसने बच्चों को घर पहुंचाया । इस बीच बच्चों के माता पिता इन्हें ढ़ूढ़ते रहे किंतु उन्हें सफलता नहीं मिली । इस संबंध में बताया गया है कि  यूं तो पुलिस के ऊपर आरोप लगते रहते है पर कई बार पुलिस का मानवीय चेहरा उभरकर सामने आता है। ऐसा ही पिछली रात को हुआ जब रात्रिकालीन गश्त के दौरान स्टाफ सहित उपनिरीक्षक दीप्ति मिश्रा को सोमवारा बाजार में रात्रि 3 बजे  दो बच्चे कचरे के ढेर पर एक बोरी के अंदर  मिले, बच्चों की हालत ठंड के कारण खराब थी। पुलिस इन बच्चों को थाने लेकर आई उनकी देखभाल की फिर 4 बजे सुबह उन दोनों बच्चों से घर का पता पूछकर उनके घर छोड़ा गया ।

बच्चों की मासूमियत
पुलिस को 9 वर्षीय बच्चे कुंदन  ने बताया की जब वो सब्जी लेने बाजार गया तो  उसके 5 साल के छोटे भाई राहुल को रास्ते में ही नींद आने लगी तो उसनेे उसे वहं सुला दिया । वो अपने भाई को गोद में उठाकर घर नही ले जा सकता था और छोटे भाई को अकेला रास्ते में छोड़कर भी नही जा सकता था तो वहीँ रुक गया फिर उसकी भी नींद लग गई और ठंड लगने के कारण पास में पड़ी बोरी में अंदर छुपकर सो गए ।
सोशल मीडिया पर खूब चर्चा
माँ मालती ठाकुर ने बताया की दोनों टमाटर लेने बाजार गए थे जिसके बाद वो घर नही लौटे । वहीँ पिता भारत ठाकुर ने बताया रात 12 बजे तक तो बच्चों को ढूढता रहा लेकिन पता नही चलने पर घर आ गया ।पुलिस की इस  जागरूक पहल सोशल मीडिया पर वायरल होने लगी  जिसे स्थानीय लोगों ने  काफी सराहा भी।
इनका कहना है
गश्त के दौरान कचरे के ढेर में बच्चे मिले तो हम सभी चौक गए । बाद में बच्चों के बताये रास्ते से उनके घर पहुँचा कर माँ पिता के हवाले  कर दिया
दीप्ती मिश्रा एसई थाना करेली

कमेंट करें
vCJbW