दैनिक भास्कर हिंदी: किसान की मौत पर उपद्रव ढाई घंटे तक बंद रहा हाइवे

June 18th, 2021

डिजिटल डेस्क दमोह/तेंदूखेड़ा । जिले के तेजगढ़ थाना क्षेत्र के पतलोनी गांव निवासी एक किसान की जहर पीने के बाद मौत की खबर से गुरुवार को जमकर उपद्रव हुआ। पुलिस पर आरोपियों के साथ मिलकर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाते हुए लोग सड़क पर उतर आए और ढाई घंटे तक दमोह-तेंदूखेड़ा-जबलुपर हाइवे जाम रखा। इस दौरान महिलाओं ने आरोपी के मकान,  दुकान पर जमकर पथराव किया। घर में ट्रैक्टर घुसाने के साथ आग लगाने की कोशिश की। इसके बाद पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर भीड़ को खदेड़ा।  जानकारी के अनुसार तेजगढ़ थाना क्षेत्र के पतलोनी गांव निवासी किसान किशोर सिंह उर्फ बबलू लोधी (45) ने तेजगढ़ के कैलाश सिंघई की जमीन बटाई पर ली थी, जिसका हिसाब नहीं दे पाने के कारण दोनों के बीच विवाद हुआ था। मामले की शिकायत तेजगढ़ थाने में हुई थी। इस बीच दोनों के बीच राजीनामा भी हुआ था। बुधवार को किशोर सिंह फिर थाने पहुंचा था और रिपोर्ट दर्ज कराना चाहता था।  लेकिन पुलिस ने सुनवाई नहीं की। इस बीच आरक्षक रवि सेन ने किशोर सिंह को सभी के सामने थप्पड़ मार दिया था। इससे आहत होकर किशोर बुधवार शाम करीब 5 बजे तेजगढ़ बस स्टैंड पर पहुंचा और पुलिस कर्मियों के सामने ही जहर पी लिया। पुलिस ने उसे तेंदूखेड़ा अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से उसे जबलपुर रेफर कर दिया गया। बुधवार रात करीब 11 बजे परिवारजनों को जबलपुर से सूचना मिली कि किसान की मौत हो गई है। इससे परिजन और ग्रामीण उग्र हो उठे। पुलिस को आशंका थी कि घटना से क्षेत्र में तनाव हो सकता है। इसलिए गुरुवार सुबह 9 बजे आधा दर्जन से अधिक थानों की पुलिस एएसपी शिवकुमार सिंह के साथ तेजगढ़ पहुंची और मोर्चा संभाला। पुलिसबल के बीच गुरुवार दोपहर करीब 1 बजे बड़ी संख्या में महिलाएं और पुरुष तेजगढ़ के मुख्य तिराहा पर पहुंचे और प्रदर्शन करने लगे। इस दौरान महिलाओं ने आरोपित के मकान व दुकान पर जमकर पथराव किया। इसके बाद करीब 1.30 बजे से मेन रोड पर चक्का जाम शुरू किया। 
इस दौरान एएसपी सिंह ने लोगों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन लोग नहीं माने। वह बार-बार आरोपितों को गिरफ्तार करने और पुलिस वालों पर कार्रवाई करने की मांग करते रहे। चक्का जाम के चलते दमोह-जबलपुर वाया तेंदूखेड़ा मार्ग पूरी तरह बंद रहा। इमलिया की तरफ जाने वाले रास्ते भी बंद रहे। प्रदर्शन कर रहे लोगों के आक्रोश के चलते पूरा तेजगढ़ बंद नजर आया और लोगों में दहशत का माहौल रहा। 
शव को आरोपितों के घर पर जलाने का प्रयास :
दोपहर 3.20 बजे जबलपुर से मृतक का शव तेजगढ़ पहुंचा। इसके बाद सड़क पर ही प्रदर्शन बढ़ा और लोग उपद्रव करने लगे। भीड़ ने एक बार फिर आरोपित के घर-दुकान पर पथराव शुरू किया। इसी दौरान एक व्यक्ति ने शटर में ट्रैक्टर घुसाने का प्रयास किया। साथ ही उसके घर में ही शव को जलाने का प्रयास किया। भीड़ को उग्र होता देख पुलिस एक्शन मोड में आई और हल्का बल करते हुए लाठी पटक लोगों को खदेड़ दिया। इसके बाद शाम करीब साढ़े 4 बजे भीड़ तितर-बितर हुई। पुलिस ने फिर सभी को चौराहा से हटाया और शव को अंतिम संस्कार के लिए लेकर पहुंचे। शाम को पुलिस की मौजूदगी में अंतिम संस्कार किया गया। साथ ही आरक्षक रवि सेन को लाइन अटैच किया गया।  
इनका कहना है 
पूरे मामले की सूक्ष्म जांच की जाएगी। जो भी आरोपी है, बख्शा नहीं जाएगा। प्रथम दृष्टया एक आरक्षक को लाइट अटैच किया गया है। 
-शिवकुमार सिंह, एएसपी दमोह 
 

खबरें और भी हैं...