दैनिक भास्कर हिंदी: दो ट्रेनों के बीच आकर खड़ा हो गया ट्रक, युवक की सूझबूझ से टला हादसा

December 13th, 2018

डिजिटल डेस्क, नरसिंहपुर। रेलवे ट्रेक के बीचों बीच आकर ट्रक फंस गया। यहां मौजूद लोग ट्रक को हटाने की कोशिश कर ही रहे थे कि दोनों ट्रेक्स पर ट्रेन हॉर्न मारती हुई तेज रफ्तार से आ रही थी, लेकिन क्षेत्रीय युवक व गेटमैन की सूझबूझ से ट्रेन को समय रहते रोक लिया गया, नहीं तो बड़ा हादसा घटित हो जाता। क्षेत्रीय युवक ने अपनी जान की परवाह किए बगैर ट्रेक पर लाल कपड़ा लेकर दौड़ गया, जिससे ट्रेन रुक गई। ट्रक को जीआरपी ने जब्त कर आरोपी चालक को गिरफ्तार कर लिया है।

गेटमैन ने ट्रक लाने से किया था मना
जानकारी के अनुसार गुरूवार को दोपहर लगभग 1.30 बजे अप एवं डाउन ट्रेक से ट्रेन आने की वजह से गोटेगांव के समीप लाठगांव के पास स्थित रेलवे गेट क्रमांक 294 बंद किया जा रहा था। गेट बंद किए जाने के दौरान ट्रक क्रमांक एमपी 09 जीजी 9335 आ गया। गेटमैन के मना करने के बावजूद ट्रक चालक ने ट्रक नहीं रोका। दूसरी ओर से गेट अधिक नीचा हो गया इसलिए ट्रक नहीं निकल सका और बीच में ही फंस गया। इस बीच अप ट्रेक से 22972 पटना बांद्रा एवं डाउन ट्रेक से 12149 दानापुर सुपर फास्ट ट्रेन आ गई, लेकिन गेटमेन एवं स्थानीय नागरिक के प्रयास से ट्रेनों को गेट के समीप रोक लिया गया, नहीं तो किसी बड़े हादसे से इंकार नहीं किया जा सकता था।

आधा गेट हो चुका था बंद
इस संबंध में गेटमैन राकेश कुमार ने बताया कि जब गेट लगाया जा रहा था तभी ट्रक का वहां आ पहुंचा। उन्होंने ट्रक चालक को हाथ के इशारे से रूकने को कहा, लेकिन उसने ट्रक निकालने का प्रयास किया और गेट से टकराता हुआ ट्रक गेट के एक ओर से तो निकल गया, लेकिन दूसरी ओर से नहीं निकल सका।

गेट खोलने के लिए पूरा बंद करना जरूरी
गेटमैन के अनुसार यदि गेट बंद करना प्रारंभ कर दिया जाए, तो बीच में उसे खोला नहीं जा सकता पहले उसे पूरा बंद करना पड़ता है, इसके बाद ही खुलता है। इसलिए ट्रक बीच में फंसने के बाद भी पहले गेट को पूरा बंद किया गया बाद मे खोला गया।

ग्रामीण की रही मुख्य भूमिका
इस घटना से बनी गंभीर हादसे की आशंका को रोकने में गेटमैन के अलावा स्थानीय नागरिक की भूमिका अहम रही। एक ट्रेक की ट्रेन रोकने के लिये जहां गेटमेन लाल झंडी लेकर पहुंचा, तो वहीं दूसरी ओर स्थानीय नागरिक ने जान की परवाह किए बिना लाल कपड़ा हाथ में लेकर दौड़ लगा दी। उसके इस सराहनीय प्रयास से दूसरी ओर की ट्रेन रूक गई और हादसा टल गया।

विक्रमपुर में आधा घंटे रूकी रही एक ट्रेन
इस घटना से रेलवे ट्रेक पर आये व्यवधान के कारण यातायात अधिक प्रभावित तो नहीं हुआ, लेकिन पुरी से हबीबगंज जाने वाली एक्सप्रेस ट्रेन को विक्रमपुर रेलवे स्टेशन पर आधा घंटे रोकना पड़ा।

 

खबरें और भी हैं...