दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर से उड़ान भरना चाहती हैं दो विमानन कंपनियां, डीजीसीए से मांगी अनुमति

April 2nd, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। डॉ. बाबासाहब आंबेडकर अंतरराष्ट्रीय विमानतल नागपुर से 5 खाली स्लाटों (जगह) पर विमानसेवा शुरू करने के लिए दो विमानन कंपिनयों द्वारा नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) से अनुमति मांगी गई है। फिलहाल स्वीकृति नहीं मिली है। जेट एयरवेज द्वारा तकनीकी कारणों से कई विमानों की सेवाएं बंद कर दी गई हैं। ऐसे में इन खाली स्लाटों पर दो विमान कंपनियां अपने विमान उड़ाना चाहती हैं।

कंपनियां तय करेंगी शहर
जानकारी के अनुसार नागपुर से विभिन्न शहरों के लिए उड़ानों को जेट एयरवेज ने रद्द कर दिया है। ऐसे में उनकी जगह (स्लॉट) खाली पड़े हुए हैं, जिन पर गो एयर और इंडिगो ने उड़ान सेवा चालू करने के लिए विमानतल को आवेदन किया है। इसके साथ ही डीजीसीए से भी इसके लिए अनुमति मांगी है। विशेष बात यह है कि डीजीसीए से अनुमति मिलने के बाद कंपनी यह तय करेगी कि वह किस शहर के लिए उड़ान सेवा शुरू करने वाली है। अभी तक गो एयर ने 4 रूट और इंडिगो ने 1 रूट पर विमान सेवा चालू करने के लिए आवेदन किया है। 

आवेदन मिले हैं
मिहान इंडिया लिमिटेड के वरिष्ठ निदेशक विजय मुलेकर का कहना है कि हमारे पास आवेदन किया गया है, लेकिन डीजीसीए की अनुमति के बाद ही हम निर्णय ले पाएंगे। हमारे पास स्लॉट खाली हैं। इसका निर्णय डीजीसीए की अनुमति के बाद ही संभव होगा, क्योंकि जिस शहर के लिए विमान सेवा शुरू की जाएगी, वहां की स्थिति को भी देखना पड़ता है। ऐसे में डीजीसीए की अनुमति के बाद यह सारी जानकारी स्पष्ट हो पाएगी।

होटल में तोड़फोड़ कर की हाथापाई
हफ्ता वसूली के लिए असामाजिक तत्वों ने होटल में जमकर उपद्रव मचाया, तोड़फोड़ कर हाथापाई की। जान से मारने की धमकी भी दी। एमआईडीसी क्षेत्र में घटित प्रकरण से कुछ समय के लिए तनाव का माहौल बना रहा। इस बीच प्रकरण दर्ज किया गया है। हिंगना रोड स्थित गेडाम ले-आउट में होटल चंद्रा इन है। कुख्यात बदमाश विक्की भुरले (28) आईसी चौक निवासी अपने एक साथी के साथ होटल में जबरन घुस गया। होटल के काउंटर पर जाकर प्रबंधक राकेश तिवारी (36) से परिसर में होटल चलाना है तो प्रति माह दस हजार रुपए देने की बात कही। रुपए देने से इनकार करने पर विक्की और उसके साथी ने जमकर उपद्रव मचाते हुए प्रिंटर, स्कैनर तोड़ दिया। होटल के बोर्ड को पत्थर मारकर क्षतिग्रस्त कर दिया। 25 हजार का नुकसान बताया जा रहा है। घटित प्रकरण से कुछ समय के अफरा-तफरी और दहशत का माहौल बना रहा। इस बीच मामले की संबंधित थाने को सूचना दे दी गई, लेकिन पुलिस पहुंचने के पहले ही दोनों आरोपी वहां से भाग निकले। इस बीच उपनिरीक्षक मदनकर ने प्रकरण दर्ज किया है, जांच जारी है।

खबरें और भी हैं...