दैनिक भास्कर हिंदी: नर्मदा में डूबने से दो किशोरों की मौत - पूरे गांव में पसरा मातम 

May 17th, 2019

डिजिटल डेस्क, करेली। यहां नर्मदा के सगुन घाट में  दो बच्चों की जल समाधि बन जाने से पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है। दोनों ही बच्चे गुरूवार को नहाने के लिए  सगुन घाट पर गए थे। नहाते हुए गहरे पानी में चले गए जिससे डूब जाने के कारण दोनों की मौत हो गई।शाम को घटित इस वारदात की जानकारी लगते ही घाट पर ग्रामीणों का हुजूम लग गया और दोनों लापता बच्चों को ढूढ़ने का सिलसिला शुरू हुआ जो देर रात तक चलता रहा  एक बच्चे का शव तो मिला किंतु  दूसरा बच्चे की तलाश अधूरीर रही । दूसरे बच्चे का शव आज शुक्रवार को सुबह निकाला जा सका । 
 

अचानक पहुंचे थे नदी तट पर 
इस संबंध में बताया गया है कि नर्मदा नदी के शगुन घाट में दो किशोर नहाने के दौरान गहरे पानी में जाकर डूब गये  जिसमें एक का शव घटनास्थल के नजदीक मिला तथा लापता दूसरे किशोर की गोताखोरों की सहायता से तलाश जारी थी। इस संबंध में करेली थाना प्रभारी नवल आर्य ने बताया कि करेली थाना क्षेत्र के ग्रामरांकई निवासी मो. सुहैल पिता मो. साबिर 17 वर्ष तथा मो. जुनैद पिता मो.जिलानी 12 वर्ष गुरूवार की दोपहर नहाने के लिए नर्मदा के शगुनघाट गये हुए थे जहां नहाते वक्त दोनों पानी में डूबकर लापता हो गये। जिसमें से मो. सुहैल का शव शाम 7 बजे घटनास्थल के समीप मिल गया किन्तु मो. जुनैद का पता नहीं लग सका और गोताखोरों की मदद से उसकी तलाश जारी थी।
 

पूरे गांव में गम का माहौल
एक ही मोहल्ले के दो बालकों का असमय निधन होने से पूरा गांव स्तब्ध हो गया लेकिन रात भर की कठोर मेहनत के बाद तडके ही शव को नदी से बाहर निकाल लिया गया। मृतक जुनैद के परिजनों ने बताया कि रात भर गावं के लोग नदी में बेटे को तलाशते रहे कोई गोता लगाकर नदी की गहराई में खोजता था तो कोई नाव से कुछ ग्रामीणों की मदद से नदी पर जनरेटर और लाईट की व्यवस्था भी की गई। रमजान पर्व होने के कारण कुछ लोग रोजेदार भी रहे। इसलिए सुबह की सैरई भी लोगों ने घाट पर ही की। वही मृतक सोहेल के पिता शबिर ने बताया कि इस वर्ष उसने 12वीं पास की थी आगे की पढाई के लिए वह इंदौर जाने वाला था   जहां इंजीनियरिंग की पढाई के लिए दाखिला की तैयारी चल रही थी।