• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Umaria: Disaster turned into an opportunity 99 primary and secondary schools of the district were renovated

दैनिक भास्कर हिंदी: उमरिया: आपदा को अवसर में बदला गया जिले की 99 प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाओं का जीर्णोद्धार कर दिया गया नया लुक

January 2nd, 2021

डिजिटल डेस्क, उमरिया। उमरिया जिले में कोरोना संक्रमण काल में जिला पंचायत के सहयोग से 99 प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाएं जो जीर्ण शीर्ण हो चुकी थी, को मनरेगा तथा 14वें एवं 15वें वित्त आयोग की राशि का कर्न्वजेंस कर नया लुक दिया गया है। इस कार्य के हो जानें से शालाएं आकर्षक एवं सुंदर दिखने लगी है। विद्यार्थियों तथा अभिभावकों का भी शालाओ के प्रति लगाव बढ़ा हैं। कोरोना काल में जब देश के विभिन्न स्थानों से श्रमिकों का अपने गांवों में वापस आना हो रहा था तथा लाकडाउन के कारण सभी व्यापार, व्यवसाय बंद हो चुके थे, उस दौरान जिला प्रशासन पर इन श्रमिकों को रोजगार के अवसर उपलब्ध करानें की बड़ी जवाबदारी थी। आपदा को अवसर में बदलते हुए कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव तथा मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत अंशुल गुप्ता ने पुरानें शाला भवन जो जीर्ण शीर्ण हो चुके थे तथा कोरोना संक्रमण के कारण विद्यालय संचालित नही हो रहे थे का लाभ उठाते हुए शाला भवनों के जीर्णोद्धार का निर्णय लिया गया। इससे जहां श्रमिकों को रोजगार मिला वहीं शाला भवनों को नया लुक भी मिल गया। गांव की शालाएं चमक उठी। विद्यार्थियों एवं अभिभावकों का रूझान भी शालाओं के प्रति बढ़ा। जिले में प्रथम चरण में मानपुर जनपद पंचायत में 57 शालाओं के जीर्णोद्धार का कार्य प्रारंभ किया गया। जिसके लिए मनरेगा मद से 23 लाख 36 हजार तथा 14वें 15वें वित्त आयोग से 83 लाख 41 हजार कुल 66 लाख 78 हजार रूपये का मंजूर किए गए। इसी तरह करकेली जनपद पंचायत में 54 स्कूलों के जीर्णोद्धार का कार्य प्रारंभ किया गया । जिसके लिए मनरेगा मद से 21 लाख 28 हजार तथा 14वें 15वें वित्त आयोग से 41 लाख 93 हजार कुल 63 लाख 21 हजार रूपये का मंजूर किए गए। पाली जनपद पंचायत में 14 स्कूलों के जीर्णोद्धार का कार्य प्रारंभ किया गया । जिसके लिए मनरेगा मद से 3 लाख 79 हजार तथा 14वें 15वें वित्त आयोग से 5 लाख कुल 8 लाख 79 हजार रूपये का मंजूर किए गए। जीर्णोद्धार का कार्य संबंधित ग्राम पंचायत द्वारा संपन्न कराया गया। इसी तरह शेष विद्यालयों के जीर्णोद्धार का कार्य द्वितीय एवं तृतीय चरण में शुरू किया गया है, जिसके माध्यम से भवन जीर्णोद्धार एवं मरम्मत पेयजल व्यवस्था, बाउण्ड्रीवाल निर्माण आदि का कार्य किया जा रहा है।