दैनिक भास्कर हिंदी: उमरिया गैंगरेप: मासूम छात्रा को रह-रहकर चौंका रही हैवानों की करतूत

January 16th, 2021


डिजिटल डेस्क  उमरिया। उमरिया में नौंवी की छात्रा के साथ अलग-अलग नौ हैवानों द्वारा की गई दरिंदगी ने समाज के हर वर्ग को विचलित कर दिया। छात्रा की हालत तो ऐसी है कि वह बोलते-बोलते रुक जाती है। वह मानसिक रूप से उबर नहीं पा रही है। हालांकि पुलिस ने बच्ची को वन स्टॉप सेंटर में रखा गया है और उसकी लगातार काउंसलिंग भी की जा रही है। इधर पुलिस ने गैंगरेप के सातों आरोपियों को न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है। दो अन्य की तलाश जारी है।
उल्लेखनीय है कि लॉक डाउन के दौरान जबलपुर में रह रहे पिता के यहां से मां के पास उमरिया गई 13 वर्षीय छात्रा के साथ नौ आरोपियों द्वारा हैवानियत की गई। लगातार तीन दिन तक अलग-अलग उसका दैहिक शोषण किया गया। घटना के बाद छात्रा की मानसिक रूप से विचलित है।  
दोबारा पुर्नवास पर जोर-
छात्रा को शनिवार को वन स्टॉप सेंटर में भेजा गया। वहां काउंसलर, महिला मित्र, वन स्टॉफ सेंटर अधिकारी व महिला पुलिस उसे प्रोत्साहित कर रहे हैं। बच्ची के माता-पिता भी संपर्क में है। हालांकि बालिका शारीरिक रूप से स्वस्थ है। अपनी दिनचर्या सामान्य तौर पर कर रही है। उमरिया एसपी विकास शाहवाल के अनुसार वारदात के बाद पीडि़ता का मेडिकल भी कराया गया था। इस दौरान शरीर में गंभीर चोट आदि नहीं मिली। अब पूरा ध्यान उसे अवशाद से बाहर लाने पर दिया जा रहा है, ताकि वह सामान्य जीवन जी सके।
इन्हें भेजा गया जेल-
गैंगरप के आरोपी आकाश सिंह निवासी कछरवार, राहुल कुशवाहा निवासी फजिलगंज, पारस सोनी निवासी पुराना पड़ाव, मानू केवट, रजनीश चौधरी, इतेन्द्र सिंह व ओंकार सिंह को शनिवार को प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट न्यायालय में पेश किया गया। न्यायालय ने सभी को जेल भेज दिया है।
पतासाजी में लगीं दो टीम-
एसपी श्री शाहवाल ने बताया कि दो फरार आरोपियों, इतेन्द्र सिंह व रोहित यादव को पकडऩे के लिए लगातार दबिश दी जा रही है। इस कार्य के लिए दो विशेष टीमों को लगाया गया है। जल्द ही दोनों आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...