रिश्वत लेते धर-दबोचा: चार माह का वेतन निकालने के बदले 40 हजार वसूलने की थी फिराक

February 27th, 2022

डिजिटल डेस्क, वाशिम। चार माह का बकाया वेतन निकालने के ऐवज में 40 हज़ार रुपए की रिश्वत लेते वाशिम जिला परिषद के स्वास्थ्य विभाग का कनिष्ठ सहायक अमोल रामदास कोकाटे (55) शुक्रवार को एन्टी करप्शन ब्यूराे के हत्थे चढ़ गया। रिश्वत की 40 हजार की राशि में 20 हजार नकदी तथा 20 हजार के कागज़ के टुकड़े शामिल हैं। एसीबी वाशिम की इस धड़ाकेबाज कार्रवाई से सम्पूर्ण जिला परिषद में हड़कंप मच गया। एसीबी वाशिम के पुलिस उप अधीक्षक गजानन शेलके ने यह जानकारी देते हुए बताया कि जिले की मालेगांव तहसील के ग्राम जऊलका निवासी 49 वर्षीय शिकायतकर्ता ने एसीबी में शिकायत दर्ज कराई कि उसका चार माह का बकाया वेतन निकालने के ऐवज में वाशिम जिला परिषद स्वास्थ्य विभाग के कनिष्ठ सहायक अमोल रामदास कदम (ध्रुव चौक, शुक्रवारपेठ वाशिम) ने उससे 55 हज़ार रुपए की रिश्वत मांगी थी। जिसमें से 40 हज़ार वेतन का आरटीजीएस करने से पूर्व तथा शेष 15 हज़ार वेतन जमा होने के बाद देने की बात तय हुई। प्राप्त शिकायत पर एसीबी वाशिम के दल ने 25 फरवरी को वाशिम जिला परिषद परिसर में जाल बिछाया और शिकायतकर्ता से 40 हज़ार रुपए (20 हज़ार चलन के नोट तथा 20 हज़ार रुपए राशि के कागज़ के टुकड़े) की रिश्वत स्वीकार करते हुए जिला परिषद स्वास्थ्य विभाग के कनिष्ठ सहायक अमोल रामदास कोकाटे को रंगेहाथों धर दबोचा। समाचार लिखे जाने तक कनिष्ठ सहायक अमोल कदम के खिलाफ अपराध दर्ज करने की प्रक्रिया शुरु थी।

इन्होंने दिया कार्रवाई को अंजाम

यह कार्रवाई भ्रष्टाचार प्रतिबंधक विभाग अमरावती परिक्षेत्र के पुलिस अधीक्षक विशाल गायकवाय़, अपर पुलिस अधीक्षक अमरावती परिक्षेत्र अरुण सावंत, एसीबी वाशिम के पुलिस उपअधीक्षक गजानन आर. शेलके के मार्गदर्शन में जांच अधिकारी एसीबी के पुलिस निरीक्षक सुजीत कांबले के दल में शामिल अरविंद राठोड़, दुर्गादास जाधव, विनोद अवगले, रवि घरत, राहुल व्यवहारे, योगेश खोटे आदि ने की। एसीबी के पुलिस उपअधीक्षक गजानन आर. शेलके ने नागरिकों से आव्हान किया है कि यदि कोई भी शासकीय अधिकारी, कर्मचारी अथवा उनकी ओर से किसी निजी व्यक्ति द्वारा किसी भी शासकीय कार्य के बदले रिश्वत की मांग करता है तो उसकी शिकायत तत्काल एसीबी वाशिम से करें।