दैनिक भास्कर हिंदी: परीक्षा कक्ष में कलाई पर घड़ी भी नहीं होगी मान्य - सीबीएसई की बोर्ड परीक्षा

January 24th, 2020

डिजिटल डेस्क दमोह । सीबीएसई की बोर्ड परीक्षा में अभी तक केलकुलेटर व अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण ले जाने पर ही पाबंदी थी ।लेकिन इस बार बोर्ड ने छात्र-छात्राओं द्वारा हाथ की कलाई पर बंधी घड़ी को भी प्रतिबंध के दायरे में लिया है ।साथ ही परीक्षार्थी को परीक्षा केंद्र पर यूनिफॉर्म पहनकर आना अनिवार्य होगा । फरवरी से शुरू होने वाली कक्षा दसवीं और कक्षा बारहवीं बोर्ड परीक्षाओं के लिए सीबीएसई ने जो निर्देश जारी किए हैं उसके अनुसार परीक्षार्थी डिजिटल या स्मार्ट घड़ी नहीं पहन सकेंगे। बोर्ड  से जारी निर्देश में कहा गया है कि परीक्षा के दौरान हर कमरे में घड़ी लगी रहेगी ,वह  हर घंटे के बाद घंटी  बजाएंगी। ऐसे में घड़ी पहन कर आने वालों की घड़ी परीक्षा के दौरान निकाल दी जाएगी। सीबीएसई की ओर से यह नियम पहली बार लागू किया गया है। सीआईएससीई की परीक्षाओं में भी बदले नियम लागू होंगे। सीबीएसई की ओर से होने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं में डिजिटल या स्मार्ट घड़ी पर पहले से ही पाबंदी है। अब 10वीं और 12वीं की परीक्षा में भी बदले नियम लागू होंगे।
 यूनिफॉर्म पहनना अनिवार्य
 सीबीएसई और सीआईएससीई ने बोर्ड परीक्षा के दौरान सभी परीक्षार्थियों को यूनिफॉर्म में परीक्षा केंद्र पर आना अनिवार्य कर दिया है। सीबीएसई ने सभी केंद्रों को निर्देश दिया है कि केंद्रों पर परीक्षार्थियों की गिनती और पहचान उनके यूनिफार्म से की जाए। यदि एक परीक्षा केंद्र पर कई विद्यालयों का केंद्र हो तो ऐसे परीक्षार्थियों को मिलाकर बैठाना होगा। सी आई एस सी ई की परीक्षा के दौरान परीक्षा केंद्र अपने विद्यालय में ही होती है, इसके बाद भी सभी परीक्षार्थियों यूनिफार्म में आए।
 सीआईएससीई ने भी परीक्षा में लगाई है पाबंदी
 केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा मंडल यानी सीबीएससी के साथ ही सीआईएससीई ने भी दसवीं और बारहवीं बोर्ड परीक्षार्थियों को डिजिटल और स्मार्ट घड़ी पहिन कर  केंद्र पर आने पर पाबंदी लगा दी गई है ।बोर्ड की ओर से जारी निर्देश में कहा गया है कि यदि कोई परीक्षार्थी केंद्र पर स्मार्ट घड़ी पहन कर चले आए तो भीतर प्रवेश से पहले उन्हें घड़ी खोलनी पड़ेगी। सीबीएसई ने निर्देश दिए हैं कि परीक्षा केंद्र के कमरों में दीवार घड़ी लगी रहेगी ,हर घंटे पर घंटी बजाकर समय की सूचना दी जाएगी ।कोई परीक्षार्थी घड़ी पहन कर आएगा तो उतरवा दी जायेगी ।
 इनका कहना है 
सीबीएसई द्वारा परीक्षा के लिए निर्देश दिए गए हैं जिसका पालन किया जाएगा व सभी को निर्देशित भी किया जा रहा है।
अनूप अवस्थी   प्राचार्य केंद्रीय विद्यालय दमोह
 

खबरें और भी हैं...