लखनऊ: अखिलेश ने जिसका लिया साथ, उसका हुआ सत्यानाश : शिवराज

March 1st, 2022

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कटाक्ष करते हुये सोमवार को कहा कि समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जिसको भी साथ लिया उसका सत्यानाश किया है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष मायावती इसके प्रमाण हैं । अब राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) अध्यक्ष जयंत चौधरी की बारी है।
जौनपुर जिले की मछलीशहर विधानसभा क्षेत्र के प्रेमराज शुक्ला इंटर कॉलेज गरियाव में पार्टी प्रत्याशी अजय कुमार दुबे अज्जू भैया और जफराबाद विधानसभा क्षेत्र के हौज गांव के खेल का मैदान पास पार्टी प्रत्याशी डॉक्टर हरेंद्र प्रसाद सिंह के समर्थन में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुये शिवराज ने कहा कि महामारी के दौरान जब रोजी रोटी का संकट पैदा हुआ, तो सरकार ने पीएम गरीब कल्याण योजना से अनाज देकर गरीबों को बचाने का काम किया है, यदि अखिलेश होते तो राशन रास्ते में ही खा जाते।
उन्होंने कहा “ राम के साथ रामराज्य का ही प्रभाव है कि आज बबुआ (अखिलेश) भी राम-राम भज रहे हैं, राहुल बाबा त्रिपुंड लगा रहे हैं तो प्रियंका गंगा स्नान कर रही हैं।”
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार के समय गुंडे और माफिया सक्रिय थे । 2017 में प्रदेश में जब भाजपा की सरकार बनी तो योगी आदित्यनाथ ने गुंडे और माफियाओं पर बुलडोजर चला कर जबरदस्ती कमा कर अर्जित की गई अकूत संपत्ति को जब्त किया और जो प्रदेश छोड़कर भाग गए उनके घरों और प्रतिष्ठानों पर बुलडोजर चलाकर उसे ध्वस्त किया गया। जो कुछ बचे हैं वे जेलों में बैठकर एक समय राम राम जप रहे हैं ।
उन्होंने नारे की शक्ल में कहा “ यूपी में भाजपा जीतेगी बंपर ,साइकिल होगी पंचर।” उन्होंने अपील किया कि सबका मान , सब का सम्मान करने वाले अजय कुमार दुबे अज्जू भैया और डॉक्टर हरेंद्र प्रसाद सिंह को जिताकर विधायक बनाएं , अन्यथा एक बार फिर सपा बसपा इत्र की खुशबू की जगह उन्माद की दुर्गंध फैला देगी । उन्होंने कहा “ यह मामा (शिवराज) आपको वचन देता है कि उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के पश्चात जिनके पास अपना मकान नहीं है सबको पक्का मकान बनाने के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत पैसा दिया जाएगा और सब को मकान उपलब्ध कराया जाएगा।”
उन्होंने अंत में ‘चार बांस चौबीस गज, अंगुल अष्ट प्रमाण । ता ऊपर सुल्तान है मत चूको चौहान’ के साथ भाषण समाप्त किया।

खबरें और भी हैं...