प्रसिद्ध भारतीय महिला प्रोफेसर: 130 से ज्यादा शोध पत्र प्रकाशित करने वाली डॉ रियाज को मिला एजुकेशन एक्सेलेंस अवार्ड

November 18th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। रसायन शास्त्र की एक प्रसिद्ध भारतीय महिला प्रोफेसर डॉ उफाना रियाज ने कंडक्टिंग पॉलिमर के क्षेत्र में 130 शोध से अधिक पत्र प्रकाशित किए हैं। उनका शोध कार्य अमेरिकन केमिकल सोसाइटी, एल्सेवियर, विले और स्प्रिंगर की अत्यधिक प्रसिद्ध और प्रतिष्ठित पत्रिकाओं में प्रकाशित हुआ है। डॉ रियाज के शोध व उपलब्धियों के लिए उन्हें एजुकेशन एक्सेलेंस अवार्ड 2021 इन मैटेरिअल केमिस्ट्री से सम्मानित किया गया है।

यह अवार्ड इंटरनेशनल मल्टीडिसिप्लिनरी रिसर्च फाउंडेशन (आईएमआरएफ) द्वारा प्रदान किया जाता है। आईएमआरएफ मैक्सिको, स्वीडन, ईरान, बांग्लादेश, श्रीलंका, थाईलैंड, चीन, जापान और दुनिया के कई अन्य प्रतिष्ठित शैक्षणिक स्थलों का अकेडमिक चैप्टर भी है। डॉ रियाज ने बताया कि उन्होंने 3 अंतर्राष्ट्रीय पुस्तकों और 25 पुस्तक अध्यायों का सह-लेखन किया है। 2016 में, उन्हें प्रतिष्ठित नेशनल एकेडमी ऑफ साइंस इलाहाबाद के सदस्य के रूप में नामित किया गया था। वर्तमान डॉ रियाज को इंटरनेशनल यूनियन ऑफ प्योर एंड एप्लाइड केमिस्ट्री एवं रॉयल सोसाइटी ऑफ केमिस्ट्री की सदस्यता भी हासिल है।

डॉ. उफाना रियाज, जामिया मिलिया इस्लामिया (जेएमआई) में रसायन शास्त्र विभाग से जुड़ी हुई हैं। उनको मैटेरिअल केमिस्ट्री के क्षेत्र में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए इंटरनेशनल मल्टीडिसिप्लिनरी रिसर्च फाउंडेशन (आईएमआरएफ) द्वारा नेशनल एजुकेशन एक्सेलेंस अवार्ड 2021 इन मैटेरिअल केमिस्ट्री से सम्मानित किया गया है।

आईएमआरएफ दुनिया के अकादमिक और अनुसंधान संगठनों में एक उच्च रैंक रखता है। यह मैक्सिको, स्वीडन, ईरान, बांग्लादेश, श्रीलंका, थाईलैंड, चीन, जापान और दुनिया के कई अन्य प्रतिष्ठित शैक्षणिक स्थलों का अकेडमिक चैप्टर भी है। संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) ने राष्ट्रों के बीच नेटवकिर्ंग की दिशा में प्रयास के तहत आईएमआरएफ को अपना समर्थन दिया है। यह फाउंडेशन शिक्षाविदों, शोधकर्ताओं को अनुसंधान सहायता प्रदान करता है तथा राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं के पार उच्च शिक्षा के विदेशी, केंद्रीय, राज्य, डीम्ड, निजी निकायों के साथ सहयोग की सुविधा प्रदान करता है।

(आईएएनएस)