comScore

लॉकडाउन ने सिखाया, जीने के लिए बहुत कम संसाधनों की आवश्यकता : कीर्ति कुल्हारी

June 05th, 2020 16:30 IST
 लॉकडाउन ने सिखाया, जीने के लिए बहुत कम संसाधनों की आवश्यकता : कीर्ति कुल्हारी

हाईलाइट

  • लॉकडाउन ने सिखाया, जीने के लिए बहुत कम संसाधनों की आवश्यकता : कीर्ति कुल्हारी

मुंबई, 5 जून (आईएएनएस)। विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर अभिनेत्री कीर्ति कुल्हारी ने प्रकृति और मानव अस्तित्व पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि मानव जाति प्रकृति का शोषण कर रही है, लॉकडाउन ने हमें सिखाया है कि हमें जीने के लिए बहुत ही कम संसाधनों की आवश्यकता है।

कीर्ति ने कहा, प्रकृति का सम्मान करना उसके प्रति कृतज्ञ होने के बारे में है। प्रकृति की हर चीज के प्रति कृतज्ञता का रवैया रखना चाहिए। हमारा अस्तित्व प्रकृति के कारण है और मुझे लगता है कि हमें इसे समझना चाहिए और इसके लिए आभारी होना चाहिए।

उन्होंने कहा, प्रकृति का सम्मान करना यह जानना है कि हमें कब रुकना है। हम मानव जाति प्रकृति का शोषण करते रहे हैं, इस लॉकडाउन ने निश्चित रूप से हमें सिखाया है कि हमें जीने के लिए बहुत कम संसाधनों की आवश्यकता है और मुझे उम्मीद है कि हम सभी अब इसके महत्व को समझ चुके हैं।

कीर्ति ने कहा, यह हम सभी में एक डिफॉल्ट सेटिंग की तरह है। हमारे पास सीखने और खुद को बदलने के लिए बहुत कुछ है। वास्तव में इस दुनिया में रहने के लिए ये जरूरी है।

कमेंट करें
nohcm