comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

मुख्तार के काफिले की यूपी में एंट्री, आगरा के रास्ते इटावा होते हुए देर रात बांदा पहुंचने की उम्मीद

मुख्तार के काफिले की यूपी में एंट्री, आगरा के रास्ते इटावा होते हुए देर रात बांदा पहुंचने की उम्मीद

हाईलाइट

  • भारी सुरक्षा के बीच रोपड़ जेल से 26 माह बाद अंसारी की यूपी वापसी
  • 12 घंटे की कागजी कार्रवाई के बाद अंसारी यूपी पुलिस के सुपुर्द किया
  • मुख्तार अंसारी की सुरक्षा को लेकर तीन राज्यों की पुलिस अलर्ट मोड पर

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को पंजाब के रोपड़ जेल से लेकर आ रहा पुलिस का काफिला तेजी से आगे बढ़ रहा है। पुलिस के अनुसार, आगरा के रास्ते इटावा होते हुए करीब 2 बजे तक बांदा पहुंचने के संकेत मिले हैं। बांदा जेल में मुख्तार का इंतजार हो रहा है। वहां रात दो बजे तक मुख्तार के पहुंचने की संभावना है। लगातार छह घंटे चलने के बाद ये काफिला थोड़ी देर के लिए जेवर पेट्रोल पंप पर रुका था। यहां काफिले के रुकते ही पुलिसवाले बंदूकें तानकर मुख्तार की एंबुलेंस के चारों ओर खड़े हो गए थे।

शाम 6 बजे के करीब पुलिस का काफिला मुख्तार अंसारी को लेकर उत्तर प्रदेश की सीमा में प्रवेश कर गया है। हरियाणा के सोनीपत से ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे के रास्ते यूपी के बागपत में एंट्री हुई है। इस दौरान यूपी के बॉर्डर पर पहले से ही काफी पुलिस बल तैनात रहा। पुलिस का काफिला तेज रफ्तार के साथ गाजियाबाद-नोएडा की ओर रवाना हो गया। एक्सप्रेस-वे पर पुलिस का काफिला तेज रफ्तार के साथ गाजियाबाद-नोएडा की ओर रवाना हो गया। इस दौरान मुख्तार की एंबुलेंस की खिड़की पर्दों से ढकी हुई थी।

बताया जा रहा है कि अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी और डीजीपी हितेश अवस्थी ने आदेश दिया है कि मुख्तार को लेकर आ रहा यूपी पुलिस का काफिला जिस-जिस जिले से गुजरेगा, उस-उस जिले की पुलिस काफिले को एस्कॉर्ट करेगी। मुख्तार अंसारी को यूपी लाए जाने से पहले उनके परिवारजन ने माफिया की जान को खतरा भी जताया था। मुख्तार ने पंजाब की जेल में ही टिके रहने के लिए एक के बाद एक कई कानूनी दांव-पेंच भी अपनाए थे। मुख्तार अंसारी के बड़े भाई और सांसद अफजाल अंसारी ने योगी सरकार पर गंभीर सवाल खड़े करते हुए उनकी जान को खतरा बताया है।

अफजाल अंसारी ने कहा कि जिस तरह से सरकार के मंत्री और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बयानबाजी कर रहे हैं, उससे कहीं न कहीं शंका पैदा हो रही है। अफजल अंसारी ने कहा, मुझे उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट यह सुनिश्चित करेगा कि सत्ता में बैठे लोग किसी की हत्या न कर दें।

इसी बीच खबर है कि मुख्तार की पत्नी ने शिफ्टिंग के दौरान सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दाखिल की है। बांदा जेल से जुडी बड़ी खबर यह है कि बुधवार से बांदा जेल की सुरक्षा बढ़ाई गई है। जेल की निगरानी ड्रोन से होगी। पहली बार जेल की निगरानी ड्रोन से होगी। मुख्तार अंसारी की बैरक में सीसीटीवी लगाए गए हैं। जेल और बैरक की निगरानी लखनऊ से होगी। जेलकर्मी बॉडी वार्न कैमरे पहनेंगे।

बांदा जेल की बढ़ाई गई सुरक्षा
रोपड़ की रूपनगर जेल में बंद मुख्तार अंसारी को यूपी के बांदा जेल लाया जाना है। बांदा जेल में मुख्तार को लाए जाने से पहले वहां की सुरक्षा बढ़ा दी गई। बांदा जेल की गेट पर पुलिस सुरक्षा बूथ बनाया गया है। जेल के बाहर पुलिस चौकी पर अतिरिक्त पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है। जेल में मुख्तार जिस बैरक में रहेगा, उसकी भी किलेबंदी कर दी गई है।

मुख्तार की पत्नी को फर्जी एनकाउंटर का डर
उत्तर प्रदेश के मऊ के बीएसपी विधायक मुख्तार की कस्टडी पाने के लिए यूपी सरकार को सुप्रीम कोर्ट में लड़ाई लड़नी पड़ी थी, लेकिन अब जब उसे यूपी की जेल लाया जा रहा है, तो ऐसे में मुख्तार का परिवार उत्तर प्रदेश में सुरक्षा को लेकर शिकायत कर रहा है। बाहुबली मुख्तार की पत्नी अफशां अंसारी ने आशंका जतायी है कि उनको फर्जी एनकाउंटर में मारने की साजिश रची जा सकती है।

मुख्तार के सांसद भाई अफजाल जाएंगे कोर्ट
मुख्तार के भाई और गाजीपुर के बीएसपी सांसद अफजाल अंसारी ने इस बीच कहा है कि यूपी की जेल में मुख्तार के खिलाफ साजिश रची जा सकती है। अफजाल अंसारी ने मुख्तार की सुरक्षा के लिए कोर्ट जाने की बात भी कही है।

यूपी नंबर प्लेट की एंबुलेंस में मुख्तार अंसारी को पंजाब के मोहाली कोर्ट तक लाए जाने के मामले में भी बाराबंकी में मुख्तार के खिलाफ केस दर्ज हुआ है, और मऊ से पहली गिरफ्तारी भी हो गई है। उत्तर प्रदेश में मुख्तार पर अब तक 52 मुकदमे दर्ज हैं, उसके गैंग के 96 सदस्य गिरफ्तार हुए हैं और उसकी 192 करोड़ रुपये की ज्यादा की संपत्तियों को जब्त करने और गिराने की कार्रवाई भी हुई है।

कमेंट करें
3pgys