दैनिक भास्कर हिंदी: कर्जमाफी पर कुमारस्वामी का पीएम को जवाब, बोले-पहले तथ्य और अपडेट्स नोट करें

December 30th, 2018

हाईलाइट

  • कुमारस्वामी ने पीएम मोदी के कर्जमाफी को लेकर लगाए गए आरोप का जवाब दिया है।
  • कुमारस्वामी ने रविवार को कहा कि पीएम मोदी का बयान बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है।
  • सीएम कुमारस्वामी ने रविवार को एक प्रेस रिलीज दिया, जिसमें 12 पॉइंट अपडेट दिए गए हैं।

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरु। कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के किसान कर्जमाफी को लेकर कर्नाटक सरकार पर लगाए गए आरोपों का जवाब दिया है। कुमारस्वामी ने रविवार को कहा कि पीएम मोदी का बयान तथ्यात्मक रूप से गलत, असंवेदनशील और बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। बता दें कि पीएम मोदी ने यूपी के गाजीपुर में रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि 'कर्नाटक में लाखों किसानों का कर्ज माफी का वादा किया गया था, लेकिन सिर्फ 800 किसानों का कर्ज माफ हुआ। बांकी पैसे कहां गए?'

सीएम कुमारस्वामी ने रविवार को एक प्रेस रिलीज जारी करते हुए 12 पॉइंट्स में पीएम मोदी को जवाब दिया हैं। कुमारस्वामी ने इसमें कहा है कि 'किसानों का कर्जमाफ करना हमारी सरकार की प्रतिबद्धता है और यह उनके बेहतरी और हितों के लिए किया जा रहा है। इसके लिए प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। कर्जमाफी के लिए भुगतान भी किए गए हैं, लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि प्रधानमंत्री को इसमें क्रूर मजाक दिखाई पड़ता है। पीएम कोई भी तथ्य जाने बिना देश के लोगों को गुमराह कर रहे हैं। माननीय प्रधानमंत्री कोई भी गलत टिप्पणी करने से पहले किसानों की कर्जामाफी से जुड़े तथ्यों और अपडेट्स को नोट करें।'

कुमारस्वामी ने कहा, 'किसानों की कर्जमाफी एक खुली किताब है और इसकी जानकारी ऑनलाइन भी उप्लब्ध है। यह अन्य सभी राज्यों से अलग है। कर्नाटक सरकार ईमानदार टैक्स पेयर्स का पैसा संभाल कर रख रही है, ताकि यह सही समय पर किसानों तक पहुंचे। हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि हर एक किसान, जिसे इनकी जरूरत है, उनको लाभ मिले। इसमें सभी तरह के बिचौलियों, खासतौर से कोऑपरेटिव सेक्टर को अलग कर दिया गया है। अन्य राज्यों ने भी इस सिस्टम में दिल्चस्पी दिखाई है। जिसमें आधार, लैंड रिकॉर्ड और राशन कार्ड के इलेक्ट्रॉनिक ऑथेंटिकेशन से किसानों की कर्जमाफी हो पाई है।'

प्रेस रिलीज में कहा गया है, 'अब तक 60,000 किसानों को 350 करोड़ रुपये इलेक्ट्रॉनिकली उनके खातों में भेज दिए गए हैं। इतना ही नहीं अगले हफ्ते 1 लाख किसानों को 400 करोड़ रुपये का भुगतान किया जाएगा। 21 लाख कर्जदार किसानों में से 8.5 लाख किसानों ने पिछले 10 दिनों में अपने आधार, राशन कार्ड जमा कराए हैं। हम जनवरी 2019 तक सभी वास्तविक किसानों का कर्जमाफ कर देंगे। अधिकारी इसके लिए काफी मेहनत कर रहे हैं और वह इस योजना को सफल बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। कर्जमाफी को लेकर जिले के अनुसार जानकारी उपलब्ध है। कुमारस्वामी ने कहा कि उपरोक्त सभी तथ्यों के बावजूद माननीय प्रधानमंत्री की ओर से  इस तरह की टिप्पणी वास्तव में अपेक्षित नहीं थी।'

बता दें कि पीएम मोदी ने शनिवार को यूपी के गाजीपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था कि चौकीदार के कारण चोरों की नींद उड़ गई है। इसके साथ ही पीएम मोदी ने किसानों की कर्ज माफी के लिए कांग्रेस को भी जमकर घेरा था। पीएम मोदी ने कहा था, 'कर्नाटक सरकार द्वारा लाखों किसानों का कर्ज माफी का वादा किया गया, लेकिन सिर्फ 800 किसानों का कर्ज माफ हुआ। ये कैसा खेल है, कैसा धोखा है? कर्नाटक सरकार ने वादा किया कि किसानों का 6 लाख करोड़ रुपए का कर्ज माफी होगा, लेकिन उन्होंने सिर्फ 60 हजार करोड़ दिया। इतना ही नहीं जब CAG  की रिपोर्ट आई, तो कई ऐसे खुलासे हुए। रिपोर्ट में बताया गया है कि 35 लाख रुपए उन लोगों को मिला जो न किसान थे, न जिनपर कर्ज था और न कर्ज माफी के हकदार थे।'