comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

अफ्रीका में तांडव मचाने के बाद भारत में टिड्डियों का खतरा, यूएन ने दी चेतावनी

अफ्रीका में तांडव मचाने के बाद भारत में टिड्डियों का खतरा, यूएन ने दी चेतावनी

हाईलाइट

  • यूएन ने भारत को चेतावनी जारी की
  • भारत में टिड्डियों के शुरुआती दल पहुंचे
  • आने वाले दिनों में स्थिति काफी खराब हो सकती है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत के कई राज्यों में टिड्डियों ने तांडव मचा रखा है और फसलों को नष्ट कर रहे है। ये टिड्डी दल बीते तीन महीनों से पूर्वी अफ्रीका के दस देशों को निशाना बनाया था। संयुक्त राष्ट्र संघ ने भारत और अन्य दक्षिण एशिया देशों को चेतावनी जारी की थी। यूएन के अनुसार भारत में टिड्डियों के शुरुआती दल पहुंचे हैं, आने वाले दिनों में स्थिति काफी खराब हो सकती है। 

टिड्डियों के दलों ने बीते महीनों में केन्या, युगांडा, तंजानिया, रवांडा, बुरुंडी, इथोपिया और सोमालिया में तबाही मचाई है। इन देशों में बारिश होने के बाद टिड्डियों की संख्या में 20 गुना इजाफा देखने को मिला। यूएन के अनुसार टिड्डों का एक दल फसलों को इतना नुकसान पहुंचा देता है, जितने में 35 हजार लोग एक दिन का भोजन कर ले। 

                                        A farmer whose wheat crop was wiped out by locusts in Balochistan province

संयुक्त राष्ट्र की खाद्य व कृषि एजेंसी के अधिकारी कीथ क्रेसमैन ने कहा करोड़ों की संख्या में टिड्डे जल्द भारत पर हमला करेंगे। ये आम नहीं बल्कि मरुस्थलीय टिड्डियों के दल है, जो फसलों के लिए विनाशकारी साबित होंगे। यूएन ने अनुसार टिड्डी दल खाद्य सुरक्षा के लिए खतरा है। ये पूर्वी अफ्रीका से अब भारत व पाकिस्तान की ओर बढ़ रहा है। 

                                         Locusts swarm in Hyderabad, Sindh province

युगांडा के कृषि मंत्री हेलेन अडोया ने कहा कि हम पहले से कोरोनावायरस का सामना कर रहे हैं। अब टिड्डों के कारण स्थितियां ज्यादा खराब हो रही हैं। उन्होंने बताया कि ये दल जां भी जाता है सबसे पहले हरे रंग के पौधों-फसलों को नष्ट करता हैं। बता दें टिड्डी दल एक दिन में 90 किमी तक का सफर कर सकते हैं। ये बारिश के मौसम में तेजी से प्रजनन करते हैं। इनकी संख्या 10 दिनों में डबल हो जाती है। 

कमेंट करें
N5J1D