दैनिक भास्कर हिंदी: राज्यसभा चुनाव: BJP के हाथ आई 59 में से 29 सीटें, उच्च सदन में होंगे 73 सांसद

March 24th, 2018

हाईलाइट

  • राज्यसभा की 59 सीटों में से BJP के हाथ 29 सीटें आई हैं।
  • बीजेपी के सांसदों की संख्या अब राज्यसभा में 73 हो जाएगी।
  • सहयोगी दलों के साथ देखा जाए तो NDA की स्थिति राज्यसभा में बेहद मजबूत हो जाएगी, हालांकि अभी भी NDA राज्यसभा में बहुमत से दूर रहेगी।
  • सात राज्यों की 26 राज्यसभा सीटों के चुनाव में बीजेपी के 12 सीटों के अलावा, कांग्रेस को 5, टीएमसी को 4, टीआरएस को 3, शरद यादव गुट के जेडीयू और सपा के 1-1 उम्मीदवार को जीत हासिल हुई है।
  • पहले 17 राज्यों की 59 सीटों के लिए चुनाव होने थे, लेकिन 10 राज्यों की 33 सीटों पर उम्मीदवारों को निर्विरोध चुन लिये जाने के बाद बाकी बचे 7 राज्यों की 26 सीटों के लिए आज (शुक्रवार) चुनाव हुए।
  • उत्तर प्रदेश में 10 सीटों पर हुए राज्यसभा चुनाव में बीजेपी के खाते में 9 सीटें आई हैं।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राज्यसभा चुनावों में BJP को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। राज्यसभा की 59 सीटों में से BJP के हाथ 29 सीटें आई हैं। इसमें बीजेपी के 17 प्रत्याशी पहले ही 10 राज्यों में हुए निर्विरोध चुनाव के तहत जीत चुके थे, जबकि शुक्रवार को हुए सात राज्यों की 26 राज्यसभा सीटों के चुनाव में बीजेपी ने 12 सीटों पर जीत हासिल की है। बीजेपी की इस बड़ी कामयाबी के बाद उच्च सदन में बीजेपी सांसदों की संख्या में बड़ा इजाफा होगा। बीजेपी के सांसदों की संख्या अब राज्यसभा में 73 हो जाएगी। सहयोगी दलों के साथ देखा जाए तो NDA की स्थिति राज्यसभा में बेहद मजबूत हो जाएगी, हालांकि अभी भी NDA राज्यसभा में बहुमत से दूर रहेगी।

आज (शुक्रवार) हुए सात राज्यों की 26 राज्यसभा सीटों के चुनाव में बीजेपी के 12 सीटों के अलावा, कांग्रेस को 5, टीएमसी को 4, टीआरएस को 3, शरद यादव गुट के जेडीयू और सपा के 1-1 उम्मीदवार को जीत हासिल हुई है। बता दें कि पहले 17 राज्यों की 59 सीटों के लिए चुनाव होने थे, लेकिन 10 राज्यों की 33 सीटों पर उम्मीदवारों को निर्विरोध चुन लिये जाने के बाद बाकी बचे 7 राज्यों की 26 सीटों के लिए आज (शुक्रवार) चुनाव हुए।

7 राज्य की 26 सीटों के नतीजे :

उत्तर प्रदेश में 10 सीटों पर हुए राज्यसभा चुनाव में बीजेपी के खाते में 9 सीटें आई हैं। वहीं सपा के हाथ 1 सीट लगी है। यहां बसपा को बड़ा झटका लगा है। उसके प्रत्याशी भीमराव आंबेडकर बीजेपी के अनिल अग्रवाल से हार गए हैं। बीजेपी से केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली, राष्ट्रीय प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव, हरियाणा प्रभारी अनिल कुमार जैन, अशोक बाजपेयी, विजयपाल सिंह, कांता करदम, हरनाथ सिंह यादव, सकलदीप राजभर और अनिल अग्रवाल यूपी से राज्यसभा जाएंगे। वहीं समाजवादी पार्टी से जया बच्चन एक बार फिर राज्यसभा जाएंगी।

कर्नाटक में अनुमान के मुताबिक परिणाम आए हैं। कांग्रेस ने यहां तीन सीटों पर जीत हासिल की है, जबकि भाजपा के खाते में एक सीट आई है। कांग्रेस से डॉ एल हनुमनथैया, डॉ सईद नसीर हुसैन और जी सी चंद्रशेखर राज्यसभा जाएंगे जबकि बीजेपी से राजीव चंद्रशेखर ने यहां राज्यसभा चुनाव में जीत हासिल की है।

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के चार उम्मीदवार नदीमुल हक, शुभाशीष चक्रवर्ती,अबीर विस्वास और सांतनु सेन ने जीत हासिल की। यहां से कांग्रेस के अभिषेक मनु सिंघवी भी राज्यसभा चुनाव जीत गए हैं।

तेलंगाना में तीनों सीटों पर टीआरएस के उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की है। यहां से बी. प्रकाश, जे. संतोष कुमार, एबी. लिंगैया यादव राज्यसभा जाएंगे।

झारखंड में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। यहां कांग्रेस और बीजेपी को एक-एक सीट हासिल हुई है। बीजेपी यहां दोनों सीटें जीतने का दावा कर रही थी। यहां बीजेपी से समीर उरांव और कांग्रेस से धीरज साहू राज्यसभा जाएंगे।

केरल से शरद यादव के धड़े वाले जनता दल (यू) की राज्य इकाई एलडीएफ के अध्यक्ष एमपी वीरेंद्र कुमार राज्यसभा के लिए चुन लिए गए हैं।

छत्तीसगढ़ की एकमात्र सीट के लिए हुए चुनाव में बीजेपी की उम्मीदवार सरोज पांडेय ने जीत दर्ज की है।

10 राज्यों की 33 सीटों पर निर्विरोध चुनाव :

राज्यसभा की 59 में से 33 सीटों पर कैंडिडेट पहले ही निर्विरोध चुने जा चुके हैं हैं। इनमें सबसे ज्यादा 17 कैंडिडेट बीजेपी से जीते थे। इसके अलावा कांग्रेस के 4 कैंडिडेट, बीजू जनता दल के 3 कैंडिडेट, राष्ट्रीय जनता दल के 2 कैंडिडेट, तेलगु देशम पार्टी के 2 कैंडिडेट, जनता दल यूनाइडेट के 2 कैंडिडेट, शिवसेना का 1 कैंडिडेट, नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी का 1 कैंडिडेट और YSR कांग्रेस के 1 कैंडिडेट को निर्विरोध चुना गया था।

1. महाराष्ट्र (6 सीट) : प्रकाश जावड़ेकर,नारायण राणे, वी. मुरलीधरन, कुमार केतकर, अनिल देसाई और वंदना चव्हाण।
2. बिहार (6 सीट) : रविशंकर प्रसाद, वशिष्ठ नारायण सिंह, महेंद्र प्रसाद, मनोज झा, अश्फाक करीम और अखिलेश प्रसाद सिंह।
3. मध्य प्रदेश (5 सीट) : धर्मेंद्र प्रधान, थावर चंद्र गहलोत, अजय प्रताप सिंह, कैलाश सोनी, राजमणि पटेल।
4. गुजरात (4 सीट) : पुरुषोत्तम रुपाला, मनसुख मांडविया, नारायण राठवा और अमी याज्ञनिक।
5. आंध्र प्रदेश (3 सीट) : सीएम रमेश, के रविंद्र कुमार और प्रभाकर रेड्डी।
6. ओडिशा (3 सीट) : प्रशांत नंदा और सौम्य रंजन पटनायक और अच्युत समानंता।
7. राजस्थान (3 सीट) : किरोड़ी मीणा, भूपेंद्र यादव और मदन लाल सैनी।
8. उत्तराखंड (1 सीट) : अनिल बलूनी।
9. हिमाचल प्रदेश (1 सीट) : जय प्रकाश नड्डा। 
10. हरियाणा (1 सीट) : डीपी वत्स।