दैनिक भास्कर हिंदी: सरदार पटेल का जीवन एक महान गाथा, जिनके नाम पर बनी 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी'

October 31st, 2019

हाईलाइट

  • सरदार पटेल की 144 वीं जयंती आज
  • नेहरु ने कहा था सरदार का जीवन एक महान गाथा है
  • भारत पहले उपराष्ट्रपति के नाम पर तैयार हुई 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी'

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। भारत के पहले उप प्रधानमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल, जिन्हें सरदार पटेल के नाम से जाना जाता है। वे लौह पुरुष के नाम से दुनिया में मशहूर हैं। उनका जन्म 31 अक्टूबर 1875 में गुजरात के नडियाद में हुआ था। उनके पिता का नाम झवेरभाई पटेल और माता का नाम लाडबा देवी था। वे अपने माता पिता की चौथी संतान थे। उन्होंने लंदन जाकर बैरिस्टर की पढ़ाई की और अहमदाबाद आकर वकालत करने लगे। उस दौर में वे महात्मा गांधी से बहुत प्रेरित थे। यही कारण था कि उन्होंने स्वतंत्रता आंदोलन में भाग लिया। देश को आजादी दिलाने और आजादी के बाद देश का शासन सुचारु रुप से चलाने में सरदार पटेल का विशेष योगदान रहा है। 15 दिसम्बर 1950 में जब उन्होंने इस ​दुनिया को अलविदा कहा तो हमने देश का वर्चस्व करने वाले एक खूबसूरत नेता को खो दिया। आज सरदार पटेल की बर्थ एनिवर्सरी पर जानते हैं उनके बारे में कुछ खास बातें।