comScore

बुंदेलखंड पैकेज घोटाला, आरईएस के 47 अधिकारियों पर कार्यवाही प्रस्तावित 

बुंदेलखंड पैकेज घोटाला, आरईएस के 47 अधिकारियों पर कार्यवाही प्रस्तावित 

डिजिटल डेस्क,दमोह। बुंदेलखंड क्षेत्र के विकास के लिए तत्कालीन केंद्र सरकार द्वारा वर्ष 2008-9  में बुंदेलखंड को 3860 करोड़ रुपए का विशेष पैकेज मंजूर किया गया था ।इस पैकेज के अंतर्गत दो हजार करोड़ रुपए जारी भी किए जा चुके थे। इस मामले में समाजसेवी पवन घुवारा  द्वारा की गई शिकायत की जांच में जल संसाधन ,कृषि, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ,उद्यानिकी ,वन ,लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी ,पशुपालन ,मत्स्य पालन, कौशल विकास आदि कार्य राज्य सरकार ने अलग-अलग विभागों के माध्यम से कराए थे ।इसकी शिकायत पर मुख्य तकनीकी परीक्षक मध्य प्रदेश द्वारा की गई जांच में बुंदेलखंड के दमोह सागर छतरपुर पन्ना टीकमगढ़ एवं दतिया जिलों में काफी भ्रष्टाचार हुआ था। इस संबंध में अभी हाल ही में ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग के अधिकारियों के विरुद्ध की गई जांच की समीक्षा की गई जिसमें 47 अधिकारी कर्मचारियों के विरुद्ध जांच लंबित है उन पर कार्यवाही के संबंध में विचार-विमर्श किया गया।

210 करोड़ की अनियमितता

ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग में 350 स्टाप डेमो का निर्माण किया गया था जिसमें 210 करोड़ की राशि की  अनियमितता मुख्य तकनीकी परीक्षक द्वारा उजागर की गई थी। ग्रामीण यांत्रिकी विभाग द्वारा बुंदेलखंड पैकेज में 6 जिलों में 350 स्टॉप डेम बनाए गए थे। जिस की प्रशासनिक स्वीकृति 135.13 लाख स्वीकृत हो गए थे। इसमें जो राशि खर्च की गई उसमें भारत सरकार द्वारा ग्रामीण यांत्रिकी विभाग 210 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए थे ।विभाग ने स्वीकृत नक्शा एवं प्राक्कलन के अनुसार कार्य नहीं किए, स्वीकृत डीपीआर के अनुसार कार्य नहीं हुआ ,स्टॉप डैम में लोहे के गेट नहीं लगाए गए, अनुबंध निरस्त किए जाने एवं दूसरी एजेंसी ने निधारण किए जाने के बाद प्रथम ठेकेदार के विरुद्ध अनुबंध की कंडिका के अनुसार कार्यवाही नहीं की गई।

 जिले में यह हुए थे कार्य 

जिले में 53 स्टाप डेमो के निर्माण हेतु 1855 लाख रुपया स्वीकृत किए गए थे। जिसमें 1691 लाख रुपये में किए गए। इनमें लखनपुर स्टॉप डेम ,स्टॉप डेम कम काजवे मोहनपुर ,पथरिया स्टॉप डेम कम रफ्ता, पौड़ी घाट हटा ,स्टॉप डेम कुड़ई रेवझा पटेरा, कसा घाट तेंदूखेड़ा ,स्टॉप डेम कनोरा रामनगर बटियागढ़, हिनौता घाट स्टॉप डेम, परासई पुल के पास गुरैया नदी पर स्टॉप डेम जबेरा तेंदूखेड़ा बिछूआ धार पटेरा स्टॉप डेम पथरिया झागरी बटियागढ़ आदि हुए थे।

इन अधिकारियों के विरुद्ध कार्यवाही प्रस्तावित

एमके मिश्रा उपयंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा संभाग दमोह वर्तमान में जल संसाधन विभाग में एमएलए अहिरवाल उपयंत्री  ग्रामीण यांत्रिकी सेवा वर्तमान में जल संसाधन विभाग में  बीके खरे तत्कालीन उप यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा वर्तमान में उप यंत्री जल संसाधन विभाग को 17 अप्रैल 18 को पत्र क्रमांक 2259 के द्वारा आरोप पत्र जारी किए गए हैं।

इनका कहना है 

ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग के अधिकारियों के दोषी पाए जाने पर इनके विरुद्ध कार्रवाई हेतु बैठक आयोजित की गई है। इसके उपरांत ही किसी प्रकार का कोई निर्णय लिया जाएगा। इनके आरोप पत्रों के जवाब पर कार्यवाही की जाएगी। शोभा निकुंभ  अवर सचिव  पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग भोपाल
 

कमेंट करें
Jm5X4