comScore

तय समय में पूरा होगा कोर्स, CBSE संगठन ने शुरू किया एकेडमिक लांस प्रोग्राम

December 20th, 2018 19:04 IST
तय समय में पूरा होगा कोर्स, CBSE संगठन ने शुरू किया एकेडमिक लांस प्रोग्राम

डिजिटल डेस्क, दमोह। केंद्रीय विद्यालय के छात्र-छात्राओं को आउटडोर क्लास को अटेंड करने का मौका मिलेगा। इसमें उन्हें विशेषज्ञ की ओर से अलग अलग विषय की बिंदु बार जानकारी दी जाएगी। साथ ही छात्र आउटडोर क्लासेस का फ्री समय में रिवीजन भी करेंगे। देश भर के केंद्रीय विद्यालय में एकेडमिक लांस प्रोग्राम शुरू किया गया है। इसके तहत छात्रों को क्लासरूम एक्टिविटीज की सुविधाएं दी जाएंगी। 

केंद्रीय विद्यालय स्कूलों में अधिकांश छात्र सांस्कृतिक खेल एनसीसी एन एस एस और स्काउट प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए शहर से बाहर जाते हैं। जिससे वह अपने स्कूल की क्लासरूम विषयों की  बिंदु बार जानकारी के संबंध में क्लास अटेंड नहीं कर पाते और उनका पाठ्यक्रम पूरा नहीं हो पाता। छात्रों की पढ़ाई न छूटे और पाठ्यक्रम तय समय में पूरा हो इसके लिए सभी क्लास के छात्रों को यह सुविधा दी जाएगी। छात्रों को प्रैक्टिकल एक्टिविटी के साथ पाठ्यक्रम को पढ़ने का मौका मिलेगा इससे छात्र स्कूल से बाहर होते हुए भी परीक्षाओं की तैयारी कर पाएंगे। वैसे छात्र ऑनलाइन जानकारियां लेकर भी अधिकांश पाठ्यक्रम पूरा कर सकते हैं। वहीं स्कूल प्रबंधन बाहर जाने वाले बच्चों को प्रिंटेड नोट्स उपलब्ध कराएगा, जिससे उनके लिखने की समस्या खत्म हो जाएगी।

देशभर के किसी भी केंद्रीय विद्यालय में पढ़ाई कर सकेंगे छात्र
इस प्रोग्राम के तहत जो छात्र दूसरी जगह किसी प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए गए हैं, उनके स्कूल से ही एक पीजीटी टीचर साथ जाएगा जो वहां छात्रों की सुबह और शाम कोचिंग लेगा। वह टीचर छात्रों को सभी विषयों की पढ़ाई कराएगा, जिससे उसकी पढ़ाई नहीं पिछड़े। इसके अलावा छात्र दूसरे शहर के किसी भी केंद्रीय विद्यालय में भी क्लास अटेंड कर सकते हैं।

लगाई जाएंगी रिमेडियल्स क्लास
एकेडमिक लांस प्रोग्राम का फायदा खासतौर से बोर्ड परीक्षा के छात्रों को मिलेगा। इसके लिए जब वे आउटडोर इवेंट को पूरा करके वापस स्कूल में लौटते हैं तो उनके लिए रिमेडियल क्लासेस का आयोजन किया जाएगा।

इनका कहना है
एकेडमिक लांस प्रोग्राम के संबंध में केंद्रीय विद्यालय संगठन द्वारा पत्र जारी किया गया है जिसके तहत इस प्रकार की व्यवस्था प्रारंभ की जाएगी।
अनूप अवस्थी, प्राचार्य केंद्रीय विद्यालय दमोह

कमेंट करें
FWNYL