comScore

प्याज बिक्री में डेढ़ करोड़ का घोटाला करने वालों को बचा रहे भोपाल में बैठे अफसर

प्याज बिक्री में डेढ़ करोड़ का घोटाला करने वालों को बचा रहे भोपाल में बैठे अफसर

डिजिटल डेस्क,कटनी। प्रदेश में प्याज के बंपर उत्पादन से किसानों को भले ही कोई फायदा नहीं हुआ पर अफसरों ने लाखों कमा लिए। दो साल पहले कटनी में भी शासन ने एक लाख 58 हजार क्विंटल प्याज विक्रय के लिए भेजी थी। जिसे अफसरों ने बेचने में जमकर घोटाला किया। जिस प्याज की को खरीदने व्यापारियों ने 125 रुपये प्रति क्विंटल बोली लगाई थी, उसे निरस्त कर दूसरे दिन वही प्याज 51 रुपये प्रति क्विंटल बेच दी गई। इतना ही नहीं रैक प्वाइंट से गोदामों तक प्याज के परिवहन में भी जमकर खेल किया गया और एक ही पुस्तक से कई गोदामों के ट्रक चालान जारी कर दिए गए।  इस बात का खुलासा आयुक्त खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग द्वारा कराई गई जांच में हुआ है। तीन सदस्यीय टीम ने प्याज घोटाले की एक-एक परत उधेड़ दी थी पर दो साल से जांच रिपोर्ट भोपाल में ही दबी रह गई। अब जब मामला विधानसभा में उठा तो विभाग के अफसरों ने जांच पूरी नहीं होने का जवाब दे दिया।

एक दिन में ही लाखों का वारा-न्यारा

जांच टीम ने आयुक्त को दिए प्रतिवेदन में उल्लेख किया है कि पांच हजार मेट्रिक टन प्याज के विक्रय के लिए बुलाए गए टेंडर में 24/7/2017 को निविदाकार संतोष कुमार शिवकुमार ने प्याज क्रय दर 125 रुपये प्रति क्विंटल प्रस्तावित की थी। कलेक्टर द्वारा गठित समिति ने एकल निविदा के आधार पर पर अस्वीकृत कर पुन.निविदा बुलाने का निण्र्रय लिया। अगले दिन 25/7/2017 को श्री साईं राइस एंड दाल मिल कटनी ने 40 रुपये प्रति क्विंटल एवं मे.श्री वेंकटेश राईस मिल कटनी ने 51 रुपये प्रति क्विंटक की दर से क्रय करने का प्रस्ताव दिया। जांच दल ने माना कि 125 रुपये प्रति क्विंटल की दर को अस्वीकृत कर 51 रुपये प्रति  क्विंटल की दर को स्वीकृत करने से शासन को 36 लाख , 50 हजार रुपये की आर्थिक क्षति हुई।

प्याज की रकम का नहीं दिया विवरण

जांच समिति ने प्रतिवेदित किया कि नागरिक आपूर्ति निगम के जिला प्रबंधक संजय सिंह द्वारा प्रस्तुत पत्रक परिशिष्ट 23 में दिनांक 11/7/2017 तक प्याज विक्रय दर्शित है। निविदा दिनांक 12/7/2017 के अंतर्गत श्री साईं राईस एंड दाल मिल को कुल 44666 क्विंटल प्याज  का विक्रया गया एवं मात्रा के विरुद्ध  श्री साईं राईस एंड दाल मिल द्वारा जमा कराई गई राशि 9379874 रुपये का पूर्ण विवरण नहीं दिया।

परिवहन में कर दिया खेल

जांच टीम ने प्याज के परिवहन में की गई गड़बड़ी का भी खुलासा किया है। प्रतिवेदन के अनुसार नागरिक आपूर्ति निगम के जिला प्रबंधक संजय सिंह द्वारा प्रस्तुत ट्रक चालानों में अनेक विसंगतियां हैं। किसी तिथी को जारी एक ही बुक के ट्रक चालान के अनुक्रमांक के बाद के अगले ट्रक चालान की तिथी उसके पूर्व दिनांक की है। एक ही चालान बुक से कई गोदामों के चालान जारी किए गए।

कमेंट करें
muhl2