comScore

ग्राहम रीड बने भारतीय पुरुष हॉकी टीम के नए मुख्य कोच

ग्राहम रीड बने भारतीय पुरुष हॉकी टीम के नए मुख्य कोच

हाईलाइट

  • हॉकी इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कोच ग्राहम रीड को भारतीय पुरुष हॉकी टीम का नया मुख्य कोच किया नियुक्त
  • रीड के मार्गदर्शन में ऑस्ट्रेलिया ने पिछले साल विश्व कप में सिल्वर मेडल जीता था

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। हॉकी इंडिया ने सोमवार को ऑस्ट्रेलिया के पूर्व खिलाड़ी एवं कोच ग्राहम रीड को भारतीय पुरुष हॉकी टीम का नया मुख्य कोच नियुक्त किया है। 54 साल के रीड जल्द ही बेंगलुरू स्थित भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) में जारी कैम्प में भारतीय टीम से जुड़ेंगे। इस कैम्प के लिए 60 खिलाड़ियों का चयन किया गया है। रीड ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज खिलाड़ी रह चुके हैं। वह एक डिफेंडर/मिडफील्डर के रूप में 1992 बार्सिलोना ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम का भी हिस्सा थे।

इसके अलावा वह 1984, 1985, 1989 और 1990 में चैंपियसं ट्रॉफी जीतने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम का भी हिस्सा रह चुके हैं। अपने करियर में 130 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने वाले रीड ऑस्ट्रेलिया की पुरुष टीम के मुख्य कोच रह चुके हैं। उनके मार्गदर्शन में टीम ने 2012 में लगातार पांचवीं बार चैंपियसं ट्रॉफी जीती थी। वह 2009 में ऑस्ट्रेलिया के सहायक कोच भी थे। इसके बाद 2014 में नंबर-1 टीम का खिताब बरकरार रखने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम के मुख्य कोच बने थे। हाल के समय में वह नीदरलैंड्स टीम के सहायक कोच के रूप में काम कर रहे थे, जिसने पिछले साल विश्व कप में सिल्वर मेडल जीता था। 

हॉकी इंडिया के अध्यक्ष मोहम्मद मुश्ताक अहमद ने कहा, एक खिलाड़ी के तौर पर ग्राहम का एक कामयाब करियर रहा है। इसके साथ ही उनका कोचिंग अनुभव भी बहुत अच्छा है। वह ऑस्ट्रेलिया और नीदरलैंड्स की राष्ट्रीय टीम के साथ काम कर चुके हैं। हमें उम्मीद है कि उनका अनुभव और विशेषज्ञता भारतीय टीम को 2020 टोक्यो ओलंपिक के लिए अपेक्षित परिणाम हासिल करने में मदद करेगा।

रीड ने इस अवसर पर कहा, भारतीय हॉकी टीम का मुख्य कोच बनना मेरे लिए गर्व और सम्मान की बात है। इस खेल में किसी टीम के इतिहास की तुलना भारत से नहीं की जा सकती। विपक्षी टीम के कोच के रूप में मैं भारतीय हॉकी का लुत्फ उठा चुका हूं। भारतीय टीम धीरे-धीरे दुनिया की सबसे खतरनाक टीमों में शुमार होती जा रही है। उन्होंने कहा, मुझे भारतीय टीम की तेज और आक्रामक हॉकी पसंद है। यह ऑस्ट्रेलियाई अंदाज के काफी करीब है। मैं हॉकी इंडिया के साथ काम करने को लेकर उत्साहित हूं। गौरतलब है कि पिछले साल भुवनेश्वर में हुए हॉकी विश्व कप के कुछ समय बाद हरेंद्र सिंह को भारत के मुख्य कोच के पद से बर्खास्त कर दिया गया था और तब से टीम को नए कोच की तलाश चल रही थी, जो रीड के रूप में खत्म हुई। 
 

कमेंट करें
yOHmP