comScore

आर्थराइटिस के मरीज हैं तो अपनी डाइट में शामिल करें इन फूड्स को

आर्थराइटिस के मरीज हैं तो अपनी डाइट में शामिल करें इन फूड्स को

डिजिटल डेस्क। आज के समय में लोग न जाने किन-किन समस्याओं से घिरे रहते हैं जिसके कारण परेशानी होना लाजमी है, उन्हीं समस्याों में से एक गठिया की बीमारी ऑर्थराइटिस यानी गठिया से आज पूरे विश्व में लगभग करोड़ों की संख्या में लोग ग्रसित हैं। गठिया के कारण लोगों को चलने-फिरने में काफी तकलीफ होती है, इसके रोगियों को शरीर के जॉइंट्स में दर्द की समस्या बहुत रहती है। गठिया होने के प्रमुख कारण-मसालेयुक्त भोजन करना, शराब पीना, कुपोषण, काम करने के बाद या धूप में से आकर तुरंत ठंडा पानी पीना, व्यायाम न करना या अधिक व्यायाम करना आदि होते हैं। इस बीमारी में हड्डियों में सूजन आना, दर्द होना ही इसके शुरुआती लक्षण हैं। हालांकि डाइट में कुछ विशेष तरह के फूड आइटम्स लेने से इस दर्द में राहत जरुर रहती है। 

गठिया के मरीज इन चीजों का करें सेवन

  • गठिया के मरीजों को प्याज का सेवन करना फायदेमंद होता है, प्याज में एसपिरिन के मुकाबले एक रसायन होता है जो दर्द में राहत पहुंचाने का काम करता है।  
  • गठिया के मरीजों के लिए गेंहू, जई, मक्का, राई, जौ, बाली, बाजरा आदि अनाजों का सेवन करना स्वास्थ्यकारी होता है। 
  • गठिया के मरीजों के लिए कद्दू का सेवन भी लाभकारी होता है, क्योंकि इसमें काफी मात्रा में कैरोटीन होता है जो हड्डियों की सूजन को कम करता है।
  • मछली में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है जो जोड़ो की सूजन को करने में मदद करता है।
  • ग्रीन टी में बहुत सारा एंटीऑक्‍सीडेंट और नीकोटीन होता है जो दर्द को दबा देता है।
  • ऑलिव ऑयल में इंटीऑक्सीडेंट और ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है जो दर्द को कम करता है।
  • गठिया के मरीजों के लिए संतरे का सेवन भी अच्छा रहता है, संतरे में विटामिन सी होता है जो स्वास्थ्य वर्धक कोलाजिन होता है। विटामिन सी हड्डियों को मजबूत करता है।

गठिया के मरीजों के इन चीजों से करें परहेज

  • गठिया की बीमारी होने पर चीनी, चिप्स, रेड मीट, अचार-चटनी, पापड़, मसालेदार भोजन करने से परहेज करें।
  • टमाटर, शराब, मक्खन, सॉफ्ट ड्रिंक, शराब, डिब्बा बंद भोजन, फ्रोजन सब्जियां और फास्ट फूड के सेवन से भी बचें।
  • अधिक मात्रा में नमक का सेवन, भिंडी, अरवी, उड़द दाल, राजमा, कटहल, फूल गोभी, अमचूर, मसूर की दाल आदि से भी गठिया के मरीजों को परहेज करना चाहिए।
     
कमेंट करें
PdL2k