comScore

अप्रैल 2020 से मारुति सुजुकी बंद करेगी डीजल इंजन कार का प्रोडक्शन 


हाईलाइट

  • मारुति की बिक्री में 23 फीसदी डीजल कारें शामिल
  • डीजल इंजन अपग्रेड करने में आती है अधिक लागत
  • डिमांड पर डीजल इंजन को रिइंट्रोड्यूस किया जा सकता है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी 1 अप्रैल 2020 से डीजल कार बनाना बंद कर देगी। हाल ही में कंपनी के चेयरमैन आर सी भार्गव ने यह जानकारी दी है। कंपनी ने इस बात की घोषणा की है। जिसमें साफ कर दिया है कि कंपनी अपनी लाइनअप से डीजल इंजन को हटा रही है। हालांकि कंपनी ने यह भी कहा है कि यदि डिमांड अच्छी होती है यानी कि डीजल इंजन की डिमांड में बढ़ोतरी देखी जाती है तो डीजल इंजन को रिइंट्रोड्यूस किया जा सकता है। 

कंपनी के अनुसार डिमांड होने पर 1.5 लीटर डीजल इंजन को रिइंट्रोड्यूस किया जा सकता है। कंपनी के इस निर्णय में लाइट कमर्शियल वीइकल्स को भी शामिल किया गया है। अब ये वीइकल्स CNG पावरट्रेन के साथ मिलेंगे। 

बिक्री में 23 फीसदी डीजल कारें शामिल
मारुति सुजुकी इंडिया (MSI) के चेयरमैन आरसी भार्गव ने कहा, '1 अप्रैल 2020 से हम डीजल कार नहीं सेल करेंगे।' मौजूदा समय में कंपनी के पास कई डीजल इंजन मॉडल्स हैं। डोमेस्टिक मार्केट में कंपनी की कुल सेल में 23 फीसदी सेल डीजल वीइकल्स की होती है। 

डीजल इंजन बंद करने का मुख्य कारण
डीजल इंजन बंद करने की घोषणा को लेकर कंपनी का कहना है कि डीजल इंजन कार को BS VI के मुताबिक अपग्रेड करने में अधिक लागत आती है। जिसके चलते कंपनी को संबंधित मॉडल्स के दाम में बढ़ोतरी करना पड़ती है और इसका सीधा असर उनकी सेल पर पड़ता है। ऐसे में कंपनी ने डीजल इंजन बंद करने का निर्णय लिया है। BS VI इंजन वाली कारें सिर्फ पेट्रोल और CNG में आएंगी। वहीं अब 1500cc से कम क्षमता की लाइन अप में डीजल इंजन मौजूद नहीं होगा। बता दें, अप्रैल 2020 में BS VI नियम लागू हो रहे हैं। यह एयर पॉल्यूशन को लेकर इमिशन नॉर्म्स हैं। अप्रैल 2020 के बाद सरकार BS VI को लागू करने जा रही है।
 

कमेंट करें
1hBoY