comScore

सर्दी ही नहीं गर्मी के मौसम में भी रखना चाहिए अस्थमा के मरीजों को खास ख्याल

सर्दी ही नहीं गर्मी के मौसम में भी रखना चाहिए अस्थमा के मरीजों को खास ख्याल

डिजिटल डेस्क। बढ़ता प्रदूषण और बदलती लाइफस्टाइल के कारण आज के समय में किसी को कभी भी कोई भी बीमारी घेर सकती है और उन्हीं में एक है अस्थमा की बीमारी। अब आप शायद यही सोच रहे होंगे कि अस्थमा की समस्या तो सर्दी के मौसम में ज्यादा उभरती है, लेकिन बता दें कि गर्मी के मौसम में भी अस्थमा के मरीजों के लिए सावधान रहने की जरुरत होती है, क्योंकि जरा सी लापरवाही अस्थमा अटैक की बड़ी वजह बन सकती है, इसीलिए आज हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसी जरुरी बातें जो सांस के मरीजों को ध्यान रखना चाहिए। 

अस्थमा के मरीजों को गर्मी के मौसम में जितना हो सके उतना घर के अंदर ही रहना चाहिए, क्योंकि इस मौसम में पोलेन, वेक्टोरियल, फंगस और डस्ट ऐलर्जी बढ़ने से अस्थमा के मरीजों में अटैक की संभावना बढ़ जाती है। अगर आप घर से बाहर जाते भी हैं तो एन95 मास्क जरुर लगाएं। 

धूप से आकर ठंडा पानी पी लेना या ठंडी चीजें जैसे बर्फ का गोला या आइस्क्रीम खा लेना सांस के मरीजों के लिए समस्या खड़ी कर सकता है। गर्मी में ठंडी चीजों के कारण अस्थमा पेशंट को अगर गले या नाक का इंफेक्शन हो जाए तो उन्हें सांस लेने में काफी ज्यादा समस्या होने लगती है, जिसके कारण उन्हें दिन में कई बार इन्हेलर का इस्तेमाल करना पड़ता है। 

कुछ घरेलू उपाय-

  • लहसुन की चार से पांच कलियां 30 मिली दूध में उबालें, इस मिश्रण का रोज सेवन करने से अस्थमा की शुरुआती अवस्था में काफी फायदा मिलता है।
  • इसके अलावा अदरक वाली गरम चाय में लहसुन की दो कलियां मिलाकर पीने से भी अस्थमा नियंत्रित रहता है। 
  • पानी में अजवाइन उबालें और पानी से उठती भांप लें। बता दें कि इस घरेलू उपाय से काफी ज्यादा फायदा होता है।
  • 5 लौंग लें और 125 मिली पानी में 5 मिनट तक उबालें। इसे छानने के बाद इसमें एक चम्मच शुद्ध शहद मिलाएं फिर इसे मरीज को दें। 
  • 180 मिमी पानी में सहजन की पत्तियां मिलाकर करीब 5 मिनट तक उबालें। मिश्रण को ठंडा होने दें, उसमें चुटकीभर नमक, काली मिर्च और नींबू का रस मिलाकर नियमित इस्तेमाल करें।
कमेंट करें
mHCO4