comScore

आलमारी खोलते समय जागा वृद्ध, तो उतार दिया मौत के घाट, आरोपी गिरफ्तार

आलमारी खोलते समय जागा वृद्ध, तो उतार दिया मौत के घाट, आरोपी गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क,कटनी। कोतवाली थाना क्षेत्र के शास्त्री कालोनी क्षेत्र में सोमवार-मंगलवार की दरम्यानी रात रेशम विभाग के रिटायर्ड अफसर की हत्या व चोरी के मामले में पुलिस को सफलता मिली है। मकान में चोरी की नीयत से घुसकर वृद्ध को मौत के घाट उतारने वाले दो बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों के कब्जे से चोरी की गई एलसीडी सहित हत्या में प्रयुक्त किए गए रॉड, व कुछ रुपए भी पुलिस ने  बरामद कर लिए हैं। आरोपियों ने अपना जुर्म स्वीकार करते हुए बताया कि आलमारी का ताला खोलते समय वृद्ध की नींद खुल गई थी और उसके आवाज लगाते ही राड से सिर पर प्रहार कर दिया था।

पुराना रिकार्ड मिलते ही हरकत में आई पुलिस

गौरतलब है कि गौरतलब है कि रेशम विभाग के रिटायर्ड अफसर एस.एस.राजपूत (65) और उनकी पत्नी ऊषा चौहान अकेले रहते थे। घटना की दिनांक ऊषा चौहान हरितालिका में निर्जला व्रत रखकर घर के समीप मंदिर में पूजा करने गई थीं उसी दौरान चोरों ने वृद्ध की हत्या कर दी थी। पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने मुआयना आदि करने उपरांत हत्यारों की पतासाजी प्रारंभ की थी। पुलिस द्वारा पुराने अपराधियों के रिकार्ड खंगाले गए और संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। संदेहियों में झर्रा टिकुरिया निवासी अरविंद चौधरी पिता कुंजीलाल चौधरी (23) व एनकेजे थाना क्षेत्र के प्रेम नगर निवासी संदीप बर्मन उर्फ लोटा बर्मन पिता मल्लू बर्मन (23) भी शामिल थे। पुलिस ने पाया कि वर्ष 2015 में अरविंद और लोटा द्वारा कोतवाली क्षेत्र के शालीमार मार्केट में नकबजनी की गई थी और चौकीदार की हत्या की थी। पुराना रिकार्ड देखते हुए पुलिस ने उक्त दोनों से कड़ी पूछताछ की तो आरोपियों ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया।

आलमारी खुलने की आवाज से खुल गई थी नींद

आरोपियों ने पुलिस को बताया कि वे ऐसे मकानों की रैकी करते थे जो सूने होते थे। एसएस राजपूत के मकान में बाहर से ताला लगा होने के कारण उन्हें लगा कि मकान में कोई नहीं है, इसलिए वे बाउंड्री कूदकर अंदर घुस गए और उसके बाद चैनल गेट को नीचे की तरफ से फैलाकर मकान के अंदर प्रवेश कर गए। आरोपियों ने बताया कि जब चोरी करने के लिए वे आलमारी खोल रहे थे उसी दौरान एसएस चौहान की नींद खुल गई और उन्होंने जैसे ही कौन-कौन है की आवाज लगाई तभी अरविंद व लोटा ने चोरी के दौरान दरवाजों का कुंदा तोडऩे के लिए उपयोग में लाए जाने वाली रॉड से हमला करके वृद्ध की हत्या कर दी थी। वारदात के बाद आरोपी एलसीडी टीवी, नगदी व कुछ जेवर लेकर भाग निकले थे।

ऊपर लगा था ताला, नीचे से घुस गए चोर

आरोपियों ने मकान के अंदर घुसने के लिए गेट का ताला तोडऩे की बजाय शातिराना अंदाज दिखाया। चैनल गेट को राड की सहायता से नीचे की तरफ से फैला कर बदमाश अंदर घुसे जिससे यह स्पष्ट है कि चैनल गेट में नीचे की तरफ ताला न लगाना लोगों के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। आरोपियों की मुंह जुबानी सुनने के बाद पुलिस ने मौके पर जाकर सीन क्रिएट किया जिस दौरान ताला लगे होने के बावजूद आसानी से चैनल गेट नीचे की तरफ से खुल गया।

टीम को पुरुस्कृत करेंगे एसपी

पुलिस अधीक्षक ललित शाक्यवार ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संदीप मिश्रा व नगर पुलिस अधीक्षक एमपी प्रजापति के मार्गदर्शन में वारदात से पर्दा उठाने वाली कोतवाली प्रभारी विजय विश्वकर्मा, टीआई शैलेष मिश्रा, कुठला थाना प्रभारी विपिन सिंह, माधवनगर थाना प्रभारी संजय दुबे, खिरहनी फाटक पुलिस चौकी प्रभारी अंकित मिश्रा, उपनिरीक्षक धीरज राज, उपनिरीक्षक बुंदेलधर द्विवेदी, उनि, अनीता कुड़ापे, सउनि विनोद सिंह, दुर्गेश तिवारी, प्रधान आरक्षक विजय कुमार विश्वकर्मा, मनोज कुड़ापे, आरक्षक जयंत कोरी, लालजी यादव, दीपक तिवारी, नितिन जायसवाल, अनिल सेंगर, विरेंद्र सिंह, शशि कांत करोसिया, मणी सिंह, महेश चौधरी, गौरीशंकर राजपूत, रवींद्र दुबे, सैनिक अनिल नायडू, श्रवण मिश्रा आदि की टीम को पुरुस्कृत करने की घोषणा की है।

कमेंट करें
Mgzin