comScore

कैदियों को मिलेगा रोजगार, पुलिस के पेट्रोल पंप पर डालेंगे डीजल-पेट्रोल

कैदियों को मिलेगा रोजगार, पुलिस के पेट्रोल पंप पर डालेंगे डीजल-पेट्रोल

डिजिटल डेस्क, दमोह। पुलिस विभाग द्वारा पोस्ट ऑफिस के सामने स्थापित किए गए पेट्रोल पंप पर शीघ्र ही प्रारंभ होते ही जेल में बंद कैदी डीजल पेट्रोल डालते हुए नजर आएंगे । इस संबंध में जेल विभाग द्वारा तीन ऑयल कंपनियों के साथ मिलकर प्रदेश में 8 डीजल पेट्रोल पंप प्रारंभ किए जा रहे हैं। इसमें से दमोह में स्थापित हो चुका पेट्रोल पंप भी शामिल है। इस पेट्रोल पंप के पूर्ण हुए लगभग 6 माह गुजर चुके हैं लेकिन अभी इसे प्रारंभ नहीं किया गया है। लेकिन इसे शीघ्र ही प्रारंभ किया जा रहा है और लगभग 1 माह के अंदर यह पेट्रोल पंप चालू हो जाएगा । इस पेट्रोल पंप पर विशेष बात यह रहेगी कि इस के संचालन के लिए दमोह के जिला जेल में बंद सजायाफ्ता कैदियों को रोजगार मिलेगा। वहीं इससे होने वाली आमदनी कैदियों के वेतन और उनके पुनर्वास पर खर्च की जाएगी ।

आईल कंपनियों से हुआ है करार

इस संबंध में जेल और पुलिस विभाग द्वारा आयल कंपनियों से अनुबंध किया गया था। जेल विभाग ने वर्षों से सजा काट रहे सजायाफ्ता कैदियों के लिए ओपन जेल खुलने के साथ ही रोजगार उपलब्ध कराने के लिए एक और पहल की थी। इसमें पेट्रोल पंपों पर जेल में संगीन मामलों  जिलों में अपराधी सजा काट रहे हैं या सजा पूरी कर चुके हैं ।उनके केदियों को रोजगार दिलाने के लिए व समाज की मुख्यधारा में जोडऩे के लिए यह कार्य किया जा रहा है। जिससे कि यह कैदी  सजा पूरी होने के बाद भी आम लोगों की तरह अपना गुजर-बसर कर सकेंगे ।

इन्हें मिलेगा रोजगार 

जेल विभाग के इस सराहनीय प्रयास में तीनों ऑयल कंपनियों द्वारा भी अपनी सहमति प्रदान कर दी थी। इसके तहत दमोह सहित अन्य 7  जिलों में स्थापित किए गए पेट्रोल पंप प्रारंभ किए जा रहे हैं । जिला जेल के समीप स्थापित किए गए इस पेट्रोल पंप पर पूरा खर्च कंपनी द्वारा उठाया गया है ।इस पंप पर किसी भी संगीन अपराध में 10 वर्ष की सजा काट चुके सजायाफ्ता को रोजगार दिया जाएगा। पंप मैनेजर, कैशियर, कंप्यूटर ऑपरेटर सहित यहां पर स्टाफ में सिर्फ कैदियों को ही रखा जाएगा। साथ ही  इस डीजल पेट्रोल पंप्स से होने वाली बिक्री से होने वाली आय मैं से आयल कंपनी के साथ साथ जेल विभाग को भी आय होगी ।

दमोह के साथ इन जिलों में भी खुले पेट्रोल पंप 

जेल पुलिस विभाग ने हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड, इंडियन आयल कारपोरेशन लिमिटेड ,भारत पेट्रोलियम के साथ मिलकर 2018 में दमोह के अलावा भोपाल, इंदौर, उज्जैन, बालाघाट ,नरसिंहपुर और जबलपुर में डीजल पेट्रोल पंप खोलने  की योजना तैयार की थी। जिसमें स्वीकृति के बाद यह डीजल पेट्रोल पंप प्रारंभ होने की कगार पर हैं। क्योंकि सभी जगह इनका निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है ।

पंप पर रहेगी सुरक्षा 

इस जिला जेल व पोस्ट ऑफिस के समीप स्थापित किए गए पेट्रोल पंप पर काम करने वाले कैदियों की निगरानी और सुरक्षा के लिए जेल विभाग द्वारा अपने सशस्त्र जवान तैनात करेगा। जिससे कि पंप पर काम करने वाला कोई भी कैदी फरार ना हो सके और उसे कोई नुकसान ना पहुंचा पाए यह पंप जेल विभाग की निगरानी में रहेगा ।

इनका कहना है

दमोह शहर में जिला जेल के समीप पेट्रोल पंप पूरी तरह से तैयार हो चुका है ।सिर्फ इसके प्रारंभ होने की औपचारिकता शेष है। इस पंप से होने वाली आय से जेलों में बंद कैदियों और सजा पूरी करने वाले कैदियों की पुनर्वास और रोजगार मुहैया कराए जाने पर व्यय होगी। जेल वेलफेयर सोसायटी यह तय करेगी कि किस सजायाफ्ता कैदी या सजा पूरी कर चुके कैदी को पंप पर रोजगार दिया जाएगा विवेक सिंह पुलिस अधीक्षक दमोह

कमेंट करें
0bwBo