comScore

पांच हजार रुपये रिश्वत लेते सचिव, रोजगार सहायक गिरफ्तार

पांच हजार रुपये रिश्वत लेते सचिव, रोजगार सहायक गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क,कटनी। प्रधानमंत्री आवास की दूसरी किश्त की राशि जारी करने के बदले पांच हजार रुपये की रिश्वत लेते रोजगार सहायक बलराम पटेल और पंचायत सचिव सुमित यादव को लोकायुक्त पुलिस की टीम ने ग्राम पंचायत भवन में रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। मामला बड़वारा जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत देवरी का है।

रिश्वत की रकम पर्स में रख ली

लोकायुक्त पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत देवरी निवासी प्रीतम कोल को प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत हुआ है। उसे पहली किश्त मिल गई थी,  दूसरी किश्त के लिए जब रोजगार सहायक बलराम पटेल से सम्पर्क किया तो उसके द्वारा 12 हजार रुपये की मांग की गई। प्रीतम कोल ने इसकी शिकायत लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक जबलपुर से की। लोकायुक्त एसपी ने टीम गठित कर देवरी पहुंची। आवेदक प्रीतम ने रिश्वत की पहली किश्त के पांच हजार रुपये दिए  तो रोजगार सहायक बलराम पटेल उसमें से आधी रकम ढाई हजार रुपये सचिव सुमित यादव को दे दिए। दोनों ने रिश्वत की रकम पर्स में रख ली थी। लोकायुक्त टीम ने दोनों से ढाई-ढाई हजार रुपये बरामद कर भ्रष्टाचार अधिनियम की धाराओं के तहत अपराध पंजीबद्ध किया। दोनों गिरफ्तार कर मुचलके पर रिहा किया गया।  इस टीम में डीएसपी जे.पी.वर्मा, निरीक्षक ऑस्कर किंडो,आरक्षक अतुल श्रीवास्तव, दिनेश दुबे, शरद पांडे, आरक्षक चालक राकेश विश्वकर्मा शामिल थे।

चोरी का आरोपी पकड़ा गया

जिले के रामपुर नैकिन थाना के रायखोर गांव में 15 दिन पूर्व हुई चोरी का खुलासा कर आरोपी को सामग्री के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है । आरोपी के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर न्यायालय में पेश कर दिया गया। थाना प्रभारी राम सिंह पटेल से मिली जानकारी के अनुसार 2 अगस्त 19 की दरमियानी रात रायखोर निवासी नंदकली साकेत पतिराम सुजान साकेत के घर में अज्ञात चोरों ने ताला तोड़कर घर में रखें सोने चांदी के गहने सहित रू.1000 के नगदी भी पार कर दिया था जिसकी शिकायत पीडि़ता ने थाने में 3 अगस्त को दर्ज कराया था । शिकायत के बाद पुलिस छानबीन कर रही थी तभी जानकारी मिली कि रायपुर निवासी राजबली सिंगरहा की गतिविधियां संदिग्ध लगी तो पकड़ कर पूछताछ की गई तो आरोपी राजबली ने चोरी करना स्वीकार कर लिया । पुलिस ने उसकी निशानदेही पर 1 चांदी की सकरी पायल ठेलिया कान के फूल तीन सोने के लाकेट एक मंगलसूत्र एक नग मोबाइल जिनकी कुल कीमत 50000 आंकी गई है को बरामद कर आरोपी के विरुद्ध धारा 457 380 का प्रकरण दर्ज कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। चोरी के खुलासे में थाना प्रभारी सहित प्रदीप मिश्रा,विवेक सिंह, अमित तिवारी सराहनीय सहयोग रहा है।
 

कमेंट करें
dMXLV