comScore

लोगों की पकड़ से छूटकर भाग गया संदिग्ध बच्चा चोर, नोट फेककर बच्चे को बुलाया अपने पास

लोगों की पकड़ से छूटकर भाग गया संदिग्ध बच्चा चोर, नोट फेककर बच्चे को बुलाया अपने पास

डिजिटल डेस्क, दमोह। शहर से लगी हुई बांदकपुर  बाईपास मार्ग पर बनाई गई नई आवासीय कॉलोनी में लगातार तीन-चार दिन से नोट फेक कर बच्चों को अपने पास बुलाने वाले एक संदिग्ध व्यक्ति को वहां के नागरिकों द्वारा पकड़ लिया गया, लेकिन वह व्यक्ति छूटकर भाग खड़ा हुआ।  इस बात की जानकारी वहां के लोगों द्वारा पुलिस को भी दी गई है। बताया गया है कि अज्ञात व्यक्ति बच्चों को लेकर जा रहा था लेकिन वहां के लोगों ने उसे पकड़ लिया और वह पीछे की ओर पहाड़ी की तरफ से छूटकर भाग निकला इस कॉलोनी के निवासियों द्वारा रात्रि 11:00 बजे  पुलिस को सूचना दी कि  एक संदिग्ध व्यक्ति  बच्चे को पकड़ कर ले जा रहा है, जिसे पकड़ने के दौरान  वह छूट कर भाग गया।

 उन्होंने बताया कि  वह व्यक्ति लगातार ही  तीन-चार दिन से  इस कॉलोनी में आ रहा था  और  पहले दिन उसने 50 रुपए का नोट फेंका फिर  दूसरे दिन 100 रुपए का तीसरे दिन  रात्रि 8:00 बजे  उसने 500 रुपए का नोट फेंका तो बच्चे ने उठाकर अपनी मां को दिया। इसके बाद मां और कॉलोनी के अन्य लोग नीचे आए और उस युवक को पकडऩे का प्रयास किया कुछ युवाओं ने उसे पकड़ लिया लेकिन वह छूट कर भाग गया।

कालोनी निवासी 11 वर्ष के रूपेश रैकवार की मां रानी रैकवार ने बताया कि 3 दिन से जब नल खुलने का समय होता था तब एक व्यक्ति बेटे के सामने आकर रुपए फेंकता था और अपने पास बुलाता था । कल भी उसने इसी प्रकार की हरकत की  वहीं दूसरे बालक  सत्यम राठौर की मां  मालती बाई राठौर  ने बताया कि  इस व्यक्ति द्वारा  उसके बेटे के साथ भी  ऐसा ही किया । उसके द्वारा भी अपनी मां को  इस बात की जानकारी दी गई डर के कारण बच्चा  दहशत में सो गया। पुलिस द्वारा इस मामले की  गहन  जांच की जा रही है  वहीं दूसरी ओर  नगर पुलिस अधीक्षक मुकेश आबि  निरीक्षक आरके गौतम सहित पुलिस अधिकारी व कर्मचारी इस मामले में जांच में जुटे हुए हैं।

दमोह जिले में इस प्रकार की लगातार ही घटना है घटित हो रही हैं जहां एक ओर बटियागढ़ में दो संदिग्ध व्यक्तियों को पुलिस ने पकड़ कर पूछताछ की वहीं दूसरी ओर किल्ल्लाई गांव में भी ग्रामीणों और महिलाओं ने चार संदिग्ध बाबाओं को वाहन सहित पकड़ा बाद में पुलिस द्वारा उनसे पूछताछ किए जाने के उपरांत उन्हें छोड़ दिया गया।

इनका कहना है 

पुलिस इस मामले में उस संदिग्ध व्यक्ति की तलाश कर रही है इसके लिए सभी प्रकार के उपयोग किए जा रहे हैं । आरके गौतम  टीआई कोतवाली

कमेंट करें
YdylQ