comScore

थम नहीं रही टमाटर की महंगाई, दिल्ली में थोक भाव 50 रुपये किलो

October 11th, 2019 21:00 IST
 थम नहीं रही टमाटर की महंगाई, दिल्ली में थोक भाव 50 रुपये किलो

नई दिल्ली, 11 अक्टूबर (आईएएनएस)। सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के बावजूद टमाटर की महंगाई थम नहीं रही है। देश की राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को फिर टमाटर के दाम में वृद्धि दर्ज की गई। दिल्ली की आजादपुर मंडी में टमाटर का थोक भाव 50 रुपये प्रति किलो तक चला गया है, जबकि खुदरा भाव 80 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया है।

कारोबारियों ने बताया कि टमाटर की आपूर्ति कम होने की वजह से इसके दाम में वृद्धि हो रही है।

प्याज के बाद टमाटर की महंगाई को काबू करने के लिए गुरुवार को सरकार ने मदर डेयरी के सफल आउटलेट से सस्ती दरों पर टमाटर प्यूरी उपलब्ध कराने का फैसला किया, लेकिन टमाटर के दाम में हो रही वृद्धि पर कोई फर्क नहीं पड़ा है।

सरकार ने सफल के आउटलेट पर 25 रुपये में 200 ग्राम टमाटर प्यूरी का पैक उपलब्ध कराया है, जोकि 800 ग्राम टमाटर के बराबर है। टमाटर प्यूरी का इससे बड़ा 825 ग्राम के एक पैक का दाम 85 रुपये है, जो 2.5 किलो टमाटर के बराबर है।

दिल्ली की कृषि उत्पाद बाजार समिति (एपीएमसी) की कीमत सूची के अनुसार, दिल्ली में शुक्रवार को टमाटर का थोक भाव 16-50 रुपये प्रति किला था, जबकि एक दिन पहले गुरुवार को आजादपुर मंडी में टमाटर का थोक भाव 12-46 रुपये प्रति किलो था। थोक भाव में चार रुपये की वृद्धि दर्ज की गई। खुदरा टमाटर दिल्ली-एनसीआर में शुक्रवार को 50-80 रुपये प्रति किलो था। यहां तक कि मदर डेयरी बूथ पर भी इसकी कीमत 60 रुपये किलो थी।

केंद्रीय उपभोक्ता मामले मंत्रालय की ओर से गुरुवार को जारी एक बयान में कहा गया कि देश के अन्य हिस्सों के साथ-साथ दिल्ली-एनसीआर में टमाटर के दाम में हुई वृद्धि का जायजा लेने के लिए एक बैठक हुई, जिसमें कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के प्रतिनिधियों ने बताया कि महाराष्ट्र और कर्नाटक में लगातार हुई बारिश के कारण टमाटर की सप्लाई प्रभावित हुई है, जोकि मानसून सीजन के समाप्त होने के साथ अगले 10 दिन में सामान्य हो जाएगी।

बयान के अनुसार, टमाटर उत्पादक राज्यों से दिल्ली समेत अन्य राज्यों में सप्लाई बढ़ाने का आग्रह किया जाएगा, ताकि उपलब्धता बढ़ने से कीमतों को काबू किया जा सके। उन्हें नियमित तौर पर एपीएमसी, ट्रेडर और ट्रांसपोटरों से बातचीत करने को कहा गया, जिससे नियमित सप्लाई सुनिश्चित हो सके।

महाराष्ट्र, कर्नाटक, हिमाचल और आंध्रप्रदेश से भी टमाटर की सप्लाई बढ़ाने के साथ-साथ नियमित उपलब्धता सुनिश्चित करने को कहा गया है।

दिल्ली सरकार ने बताया कि टमाटर की जमाखोरी पर लगाम लगाने के लिए एसडीएम स्तर के अधिकारियों की अगुवाई में गठित टीमों को इस काम में लगाया है।

आजादपुर एपीएमसी के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में शुक्रवार को टमाटर की आवक 402.1 टन थी, जबकि एक दिन पहले दिल्ली में टमाटर की आवक 514.1 टन थी।

कमेंट करें
Xl2ES